Budget 2024 : छिंदवाड़ा मेडिकल कालेज के लिए जिले को सौ करोड़, और भी बहुत कुछ; पढ़ें पूरी खबर


मध्‍य प्रदेश की मोहन सरकार ने बजट पेश किया। बजट में छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल सांइस (सिम्स) को सौ करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं। गौरतलब है कि सिम्स को 665 करोड़ के स्थान पर तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 768 करोड़ रुपये स्वीकृत किए थे। वहीं छिंदवाडा में ग्रीन स्किलिंग आई.टी.आई. में विकसित कर सोलर टेक्नीशियन एवं इलेक्ट्रिक व्हीकल मैकेनिक पाठ्यक्रम प्रांरभ किये गए हैं।

By Ashish Mishra

Publish Date: Thu, 04 Jul 2024 02:03:21 PM (IST)

Updated Date: Thu, 04 Jul 2024 02:03:21 PM (IST)

Advertisment 
--------------------------------------------------------------------------
क्या आप भी फोन कॉल पर ऑर्डर लेते हुए थक चुके हैं? अपने व्यापार को मैन्युअली संभालते हुए थक चुके हैं? आज के महंगाई भरे समय में आपको सस्ता स्टाफ और हेल्पर नहीं मिल रहा है। तो चिंता किस बात की?

अब आपके लिए आया है एक ऐसा समाधान जो आपके व्यापार को आसान बना सकता है।

समाधान:
अब आपके साथ एस डी एड्स एजेंसी जुडी है, जहाँ आप नवीनतम तकनीक के साथ एक साथ में काम कर सकते हैं। जैसे कि ऑनलाइन ऑर्डर प्राप्त करना, ऑनलाइन भुगतान प्राप्त करना, ऑनलाइन बिल जनरेट करना, ऑनलाइन लेबल जनरेट करना, ऑनलाइन इन्वेंट्री प्रबंधन करना, ऑनलाइन सीधे आपके नए आगमनों को सोशल मीडिया पर ऑटो पोस्ट करना, ऑनलाइन ही आपकी पूरी ब्रांडिंग करना। आपके स्टोर को ऑनलाइन करने से आपके गैर मौजूदगी के समय में भी लोग आपको आर्डर कर पाएंगे। आपका व्यापार आपके सोते समय भी रॉकेट की तरह दौड़ेगा। गूगल पर ब्रांडिंग मिलेगी, सोशल मीडिया पर ब्रांडिंग मिलेगी, और भी बहुत सारे फायदे मिलेंगे आपको! 🚀

ई-कॉमर्स प्लान:
मूल्य: 40,000 रुपये
50% छूट: 20,000 रुपये
ईएमआई भी उपलब्ध है
डाउन पेमेंट: 5,000 रुपये
10 ईएमआई में 1,500 रुपये
साथ ही विशेष गिफ्ट कूपन

अब आज ही बुकिंग कीजिए और न्यूज़ पोर्टल्स में विज्ञापन प्लेस करने के लिए आपको 10,000 रुपये का पूरा गिफ्ट कूपन दिया जा रहा है! इसे साल भर में हर महीने 10,000 रुपये के विज्ञापन की बुकिंग के लिए 10 महीने तक उपयोग कर सकते हैं।

अब तकनीकी की मदद से अपने व्यापार को नई ऊँचाइयों तक ले जाइए और अपने व्यापार को बढ़ावा दें! 🌐
अभी संपर्क करें - 📲8109913008 कॉल / व्हाट्सप्प और कॉल ☎️ 03369029420


 

Budget 2024 : छिंदवाड़ा मेडिकल कालेज के लिए जिले को सौ करोड़, और भी बहुत कुछ; पढ़ें पूरी खबर
छिंदवाड़ा में नौ एकड़ में बन रहा ”श्रीबादल भोई जनजातीय संग्रहालय” प्रदेश का पहला जनजातीय संग्रहालय है।

HighLights

  1. बादल भोई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी संग्रहालय का विस्तार।
  2. 10 राज्यों में जनजातीय संग्रहालय बनाने की घोषणा हुई थी।
  3. अतिरिक्त करीब 10 करोड़ की स्वीकृति मिल चुकी है।

नई दुनिया प्रतिनधि, छिंदवाड़ा। मध्‍य प्रदेश के छिंदवाड़ा के बजट में मोहन सरकार के मंत्री ने बादल भोई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी संग्रहालय का निर्माण एवं विस्तारीकरण का जिक्र किया है। छिंदवाड़ा में नौ एकड़ में ”श्रीबादल भोई जनजातीय संग्रहालय” का काम चल रहा है। ये प्रदेश का यह पहला जनजातीय संग्रहालय है।

10 राज्यों में जनजातीय संग्रहालय बनाने की घोषणा की थी

15 अगस्त 2016 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आदिवासी संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए देश में 10 राज्यों में जनजातीय संग्रहालय बनाने की घोषणा की थी। प्रत्येक संग्रहालय के लिए 30 करोड़ रुपये बजट की घोषणा की गई थी। छिंदवाड़ा में संग्रहालय के साथ-साथ कुछ दुकानें और कैफेटेरिया का भी निर्माण किया गया है।

अतिरिक्त करीब 10 करोड़ की स्वीकृति मिल चुकी है

मध्य प्रदेश सरकार की ओर से अतिरिक्त करीब 10 करोड़ की स्वीकृति मिल चुकी है। श्री बादल भोई जनजातीय संग्रहालय बनाया जा रहा है। इस संग्रहालय में जनजातीय कला संस्कृतियों को सहेजने के साथ-साथ स्वतंत्रता संग्राम में योगदान दिए जनजाति समुदाय के लोगों को भी स्थान दिया जाएगा। इसी जगह पर एक पुराना म्यूजियम भी है, जिसमें आदिवासी संस्कृति को दर्शाया गया है।

1940 में अंग्रेजी शासक ने जेल में जहर देकर जान ले ली थी

गौरतलब है कि बादल भोई जिले के एक क्रांतिकारी आदिवासी नेता थे। उनका जन्म 1845 में परासिया तहसील के डूंगरिया तीतरा गांव में हुआ था। उनके नेतृत्व में 1923 में हजारों आदिवासियों ने कलेक्टर बंगला में प्रदर्शन किया था। इसके बाद लाठीचार्ज किया गया और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। 21 अगस्त 1930 को उन्हें अंग्रेजी शासक द्वारा रामाकोना में वन नियम तोड़ने के लिए गिरफ्तार किया गया और जेल भेज दिया गया। इसके बाद 1940 में एक अंग्रेजी शासक ने उन्हें जेल में जहर देकर उनकी जान ले ली थी।

80 हजार करोड़ घाटे का है बजट

पीसीसी चीफ जीतू पटवारी ने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार का जो बजट आ रहा है वह वह 80 हजार करोड़ के घाटे का बजट है, इस सरकार का कर्ज क्राइम और करप्शन से अपना गहरा नाता जुड़ा है। सरकार चाह रही है कि कैसे पैसे डालें और कैसे करप्शन करें लूट के हिस्से में सबका हमारा हिसा बने।जीतू पटवारी ने छिंदवाड़ा में बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कर्मचारियों की समय पर वेतन नहीं हो पा रहे हैं। मध्य प्रदेश सरकार घाटे में चल रही है करप्शन क्राइम चरम पर है। लाड़ली बहन स्कीम के लिए जो पैसे देना है या तो वह मोदी सरकार की रहमो करम से आएंगे या फिर करप्शन करके आएंगे क्योंकि इन्हें रिजर्व बैंक ने कर्ज देने से मना कर दिया है।



Source link


Discover more from सच्चा दोस्त न्यूज़

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours

Leave a Reply