RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

रामानंदाचार्य जयंती पर निकली शोभायात्रा, वैष्णव साधु-संतों ने किया भंडारा


खाक चौक स्थित रामानंदाचार्य प्रतिमा पर हुआ हवन अनुष्ठान किया

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913


उज्जैन। वैष्णो अखाड़ों से जुड़े साधु संतों ने गुरुवार को जगतगुरु स्वामी श्री रामानंदाचार्य की 721वीं जयंती मनाई। इस अवसर पर भंडारे का आयोजन किया गया जिसमें विशेष रुप से साधु संतों ने भोजन प्रसादी ग्रहण कर पुण्य लाभ प्राप्त किया।


खाक चौक स्थित श्री रामानंदाचार्य की प्रतिमा पर पंडित नारायण शास्त्री द्वारा वेद मंत्रोच्चार के साथ भगवान का अभिषेक कराया गया। महंत दिग्विजय दास, मुनिशरण दास, महामंडलेश्वर ज्ञानदास द्वारा अभिषेक पूजन किया गया।

इसे भी पढ़े : हरिद्वार कुंभ मेले के लिए आवश्यक हिदायते जारी

इसके बाद साधु संतों की शोभा यात्रा खाक चौक चौराहे से होते हुए निर्वाणी अखाड़ा पहुंची। यहां पर जगतगुरु रामानंदाचार्य जी के जीवन पर महंत राघवेंद्र दास, विशाल दास, मुनिशरण दास जानदार सहित अन्य साधु संतों ने प्रकाश डालते हुए उनके द्वारा किए गए सनातन धर्म के योगदान पर प्रकाश डाला।

इसके बाद साधु संतों की शोभा यात्रा खाक चौक चौराहे से होते हुए निर्वाणी अखाड़ा पहुंची। यहां पर जगतगुरु रामानंदाचार्य जी के जीवन पर महंत राघवेंद्र दास, विशाल दास, मुनिशरण दास जानदार सहित अन्य साधु संतों ने प्रकाश डालते हुए उनके द्वारा किए गए सनातन धर्म के योगदान पर प्रकाश डाला।

निर्वाणी अखाड़े में आयोजित कार्यक्रम में साधु संतों ने जगद्गुरु रामानंदाचार्य जी के जीवन पर प्रकाश डालने से पूर्व उनके चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन किया जिसमें मुख्य अतिथि के तौर पर महंत रामेश्वर दास उपस्थित रहे। इसके पश्चात भंडारे का आयोजन हुआ। जिसमें सैकड़ों साधु संतों ने प्रसादी प्राप्त कर पुण्य लाभ कमाया।

इसे भी पढ़े : US ने नए कृषि कानूनों का किया समर्थन

इस अवसर पर महंत दिग्विजय दास, रामेश्वर दास, रामचंद्र दास, महामंडलेश्वर ज्ञानदास, महंत विशाल दास, राघवेंद्र दास, भगवान दास, विष्णु दास, मुनीश्वरण दास, बलराम दास सहित अन्य साधु संत उपस्थित रहे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: