India vs Sri Lanka Series: ऋतुराज गायकवाड़ टीम इंडिया में जगह मिलते ही हुए भावुक, बताई अपनी ताकत


पुणे. भारतीय टीम के लिए पहली बार चुने गए सलामी बल्लेबाज रुतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) ने शुक्रवार को कहा कि वह श्रीलंका के आगामी दौरे (India Tour of Sri Lanka 2021) पर परिस्थितियों से जल्दी सामांजस्य बिठाने की अपनी क्षमता पर भरोसा जताएंगे. महाराष्ट्र का 24 साल का यह बल्लेबाज 13 जुलाई से 25 जुलाई तक श्रीलंका दौरे पर तीन वनडे और इतने ही टी20 मैचों की सीरीज के लिए शिखर धवन की अगुवाई में चुनी गई 20 सदस्यीय टीम में छह नए चहरों में से एक है. इस सीरीज के लिए पहली बार भारतीय टीम में शामिल किए गए खिलाड़ी हैं- गौतम, देवदत्त पडिक्कल, नितीश राणा, रुतुराज गायकवाड़ और चेतन सकारिया.

रुतुराज गायकवाड़ ने अभ्यास सत्र के बाद कहा, ”मैं काफी खुश हूं. जिस क्षण से मुझे इसके बारे में पता चला, मेरी आंखों के सामने अपने करियर की यात्रा आ गई कि मैंने कहां से अपना सफर शुरू किया था और मैं कहां पहुंचना चाहता हूं. अभी भावनाओं से भरा हुआ हूं.” उन्होंने कहा, ”आप उन लोगों के बारे में सोचते हैं, जिन्होंने पूरी यात्रा में आपका साथ दिया है, चाहे वह मेरे माता-पिता हों, दोस्त हों या कोच. तो जाहिर तौर पर सभी के लिए गर्व की अनुभूति और सभी के लिए खुशी की बात है.”

जयदेव उनादकट-राहुल तेवतिया के साथ टीम इंडिया के सेलेक्टरों ने की नाइंसाफी!

किसी भी स्थिति में ढलना है गायकवाड़ की मूल ताकतदाएं हाथ के बल्लेबाज का 59 लिस्ट ए मैचों में 47 से अधिक का औसत है और टी20 प्रारूप में उनका स्ट्राइक रेट 130 से अधिक है. गायकवाड़ को लगता है कि खेल में किसी भी स्थिति में ढलना उनकी ‘मूल ताकत’ है. उन्होंने कहा, ”मेरी ताकत टीम के जरूरत के मुताबिक खेलना है चाहे वह आक्रामक तरीके से हो या स्थिति के अनुसार. कई बार यह सुनिश्चित करना होता है कि टीम मुश्किल परिस्थिति से बाहर निकले. मैं आक्रामक और रक्षात्मक दोनों स्थितियों के अनुकूल हूं, यही मुझे लगता है कि यह मेरी ताकत है.”

फिर से राहुल द्रविड़ के साथ फिर से जुड़ना चाहते हैं गायकवाड़

आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के साथ सफलता हासिल करने के बाद तेजी से उभरे इस युवा खिलाड़ी ने कहा कि वह फिर से राहुल द्रविड़ के साथ फिर से जुड़ना चाहते हैं, जो टीम के मुख्य कोच होंगे. द्रविड़ इससे पहले भारतीय अंडर-19 और ए टीमों को कोचिंग दे चुके हैं. उन्होंने कहा, ”इस दौरे पर सीमित अवसर मिलेगा, लेकिन मैं इस यात्रा से जितना हो सके सीखने की उम्मीद कर रहा हूं. टीम में अनुभवी खिलाड़ी हैं और जाहिर है एक बार फिर मुझे राहुल सर के साथ जुड़ने का मौका मिलेगा.”

‘मेरा सबसे बड़ा लक्ष्य अपने देश के लिए जीत हासिल करना है’

उन्होंने कहा, ”भारत ‘ए’ का आखिरी दौरा लगभग डेढ़ साल पहले हुआ था, ऐसे में एक बार फिर से उनके (राहुल द्रविड़) मिलने और बात करने का मौका मिलेगा. इसलिए यह प्रदर्शन और स्कोरकार्ड के आंकड़ों से काफी अधिक है.” उन्होंने कहा, ”जाहिर है अगर मुझे मौका मिलता है, तो उम्मीद है कि मैं अपना सर्वश्रेष्ठ दे सकूं और भारत के लिए मैच जीत सकूं. मेरा सबसे बड़ा लक्ष्य भारतीय टीम या अपने देश के लिए जीत हासिल करना है.” गायकवाड़ चेन्नई सुपर किंग्स की टीम में फाफ डु प्लेसिस और महेन्द्र सिंह धोनी जैसे दिग्गजों के साथ ड्रेसिंग रूम साझा कर चुके हैं.

India vs Sri Lanka Series: टीम इंडिया का कप्तान चुने जाने पर आया शिखर धवन का रिएक्शन

‘माही भाई जो भी बोलते हैं, वह अनुसरण करने लायक होता है’

उन्होंने कहा, ”माही भाई के साथ की बात करूं तो, जाहिर तौर पर वह जो कुछ भी बोलते हैं, वह हमेशा अनुसरण करने लायक होता है. मैंने सुना था कि उन्होंने मैच के बाद की प्रस्तुति में मेरे बारे में बात की थी. मैं उनके साथ ज्यादा बात नहीं करता, उन्हें पता है कि मैं शांत और शर्मीला खिलाड़ी हूं.” उन्होंने कहा, ”धोनी को जब भी लगता कि मैं दबाव हूं तो वह मेरे पास सबसे पहले आते थे और कहते थे कि चिंता की कोई बात नहीं.”

रुतुराज गायकवाड़ अब चंदू बोर्डे और केदार जाधव जैसे महाराष्ट्र के उन शानदार क्रिकेटरों की सूची में शामिल हो सकते हैं, जो भारत की तरफ से खेले. उन्होंने कहा कि जाधव ने उनकी यात्रा में प्रभावशाली भूमिका निभाई है. उन्होंने कहा, ”केदार (जाधव) मेरी यात्रा की शुरुआत से मेरे साथ हैं, जब से मेरा प्रथम श्रेणी करियर शुरू हुआ और मुझे लगता है कि वह पूरी यात्रा में बहुत प्रभावशाली रहे हैं . वह हमेशा मुझे प्रोत्साहित करते रहे हैं.”





Source link

Leave a Reply

COVID-19 Tracker
%d bloggers like this: