दिल्ली हाईकोर्ट

Live Radio


दिल्ली हाईकोर्ट

फेसबुक (Facebook) और व्हाट्सऐप (Whatsapp) ने सीसीआई के 24 मार्च के आदेश को चुनौती दी थी जिसमें नई प्राइवेसी पॉलिसी की जांच का निर्देश दिया गया था

नई दिल्ली. दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने गुरुवार को भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग यानी सीसीआई (Competition Commission of India) से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक (Facebook) और व्हाट्सऐप (Whatsapp) की उन अपील पर जवाब मांगा जिसमें मैसेजिंग ऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी की जांच का आदेश देने के खिलाफ उनकी याचिकाओं को खारिज करने के सिंगल बेंच के आदेश को चुनौती दी गई है. चीफ जस्टिस डी एन पटेल और जस्टिस जसमीत सिंह की बेंच ने जांच का आदेश देने वाले सीसीआई को नोटिस जारी किया और उससे 21 मई को अगली सुनवाई तक जवाब मांगा. सिंगल बेंच ने 22 अप्रैल को अपने आदेश में कहा था कि हालांकि सीसीआई के लिए व्हाट्सऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट और दिल्ली हाईकोर्ट में दायर याचिकाओं पर आने वाले फैसलों की प्रतीक्षा करना विवेकपूर्ण होगा लेकिन ऐसा नहीं करने से नियामक का आदेश त्रृटिपूर्ण या अधिकार क्षेत्र को कम करने वाला नहीं होगा. ये भी पढ़ें- PUBG Mobile की भारत में Battlegrounds मोबाइल के नाम से होगी इंट्री, रोमांच से होगा भरपूर अदालत ने कहा कि उसे फेसबुक और व्हाट्सऐप की याचिका में ऐसा कोई गुण नहीं दिखाई देता जिसके आधार पर सीसीआई के जांच के निर्देश में हस्तक्षेप किया जाए. सीसीआई ने सिंगल बेंच के समक्ष अपना पक्ष रखते हुए कहा कि वह कथित रूप से व्यक्ति की निजता के हनन की जांच नहीं कर रहा है जिस मामले को सुप्रीम कोर्ट देख रहा है.सीसीआई ने अदालत के समक्ष तर्क दिया कि व्हाट्सऐप की नई पॉलिसी से भारी मात्रा में यूजर्स की सूचना एकत्र की जाएगी और अधिक यूजर्स को जोड़ने के उद्देश्य से लक्षित विज्ञापन के लिए उनकी चुपके से निगरानी की जाएगी और इस तरह से यह प्रभावशाली स्थिति का कथित रूप से दुरुपयोग होगा. नियामक ने कहा, ”न्यायाधिकार क्षेत्र के सवाल पर कोई त्रृटि नहीं हुई है. सीसीआई ने व्हाट्सऐप और फेसबुक की याचिका का भी विरोध किया जिसमें उन्होंने फैसले को अक्षम और गलत बताया था. ये भी पढ़ें: जानिए Made in India Apps के बारे में जो दे रहे WhatsApp और Twitter जैसे ऐप्स को कड़ी टक्कर  उल्लेखनीय है कि व्हाट्सऐप और फेसबुक ने सीसीआई के 24 मार्च के आदेश को चुनौती दी थी जिसमें नई प्राइवेसी पॉलिसी की जांच का निर्देश दिया गया था.









Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 Tracker