RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

अहिंसा यात्रा को मिल रहा है,सर्वदलीय विधायक/सांसदों का समर्थन##2024 तक गौ वंश को राष्ट्रीय पशु घोषित करवाने का लक्ष्य

अहिंसा यात्रा को मिल रहा है,सर्वदलीय विधायक/सांसदों का समर्थन
2024 तक गौ वंश को राष्ट्रीय पशु घोषित करवाने का लक्ष्य
मतीन रजा…
लालबर्रा
-गौ वंश को राष्ट्रीय पशु घोषित करवाने का लक्ष्य लेकर गत 18 अगस्त 2022 को मध्यप्रदेश के इंदौर से यात्रा संयोजक विनायक अशोक लुनिया के नेतृत्व में प्रारम्भ हुयी अहिंसा यात्रा को मध्यप्रदेश सहित महाराष्ट्र के भाजपा, कांग्रेस, शिवसेना के विधायक व सांसदों का भरपुर समर्थन प्राप्त हो रहा है। सुचारु रूप से चल रही यात्रा में अब तक 100 विधायक एवं सांसद का समर्थन प्राप्त हो चुका है जिसमे मुख्यतः मध्यप्रदेश से पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं वर्तमान भाजपा विधायक पारस जैन, कांग्रेस विधायक कांतिलाल भूरिया, विधायक दिलीप गुर्जर, व हाल ही में चर्चा का विषय बनने वाली हॉट सीट से विधायक सुलोचना रावत सहित महाराष्ट्र के सोलापुर विधायक विजय देशमुख, शिवसेना के शिंदे गुट के बहुचर्चित विधायक शाहजीबापु पाटिल एवं भाजपा से राज्यसभा सांसद धनंजय महाडिक का समर्थन प्राप्त हुआ है।

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913

उक्ताशय जानकारी देते हुए यात्रा संयोजक विनायक अशोक लुनिया ने बताया की अहिंसा यात्रा का मुख्य लक्ष्य गौ वंश को राष्ट्रीय पशु घोषित करवाना। यह अभियान आज का नहीं, वरन 40 साल ज्यादा समय से चलता आ रहा है, यह अभियान पिताजी स्वर्गीय अशोक कुमार लुनिया साहब ने 70 की दशक में गौ संरक्षण का मुहीम शुरू किया था, जिसको वर्ष 2011 में गौ वंश को राष्ट्रीय पशु घोषित करो की मांग उठाकर एक राष्ट्रीय मुद्दा बनाया गया था किन्तु आज तक वह मांग पूर्ण नहीं हो सकी जिसको अब अहिंसा यात्रा के मध्य से देश भर दोनो सदनो के 4980 विधायक एवं दोनो सदनो के 788 सांसदों से समर्थन प्राप्त कर महामहिम राष्ट्रपति महोदय को समर्थन पत्र भेंट करते हुए पुरजोर तरीके से अपनी मांग रखी जाएगी। उल्लेखनीय हो कि यात्रा संयोजक विनायक अशोक लुनिया की माताजी का देहांत 4 अगस्त 2022 को हो गया है एवं परिवार के अकेले पुत्र होने के बाद भी वह अपने माता – पिता के सपने को पूरा करने के लिए निकल पड़े, असहनीय अपूरणीय क्षति के बाद भी लुनिया ने अहिंसा यात्रा बाधित नहीं होने दिया। आपको बता दें की यह यात्रा 17 माह 6 दिन की है, जो की सतत चलती रहेगी। उक्त यात्रा में फ्रंट लाइन सहित प्रबंधन में कुल 140 से अधिक लोगो की टीम कार्यरत है। 

Leave a Reply

%d bloggers like this: