RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

ग्राम पंचायत मिरेगांव एवं जाम तत्कालिन सचिवों पर कार्यवाही,,आर.टी.आई के तहत जानकारी प्रदान ना करने पर 15-15 हजार की शास्ती राशि अधिरोपित

ग्राम पंचायत मिरेगांव एवं जाम तत्कालिन सचिवों पर कार्यवाही
आर.टी.आई के तहत जानकारी प्रदान ना करने पर 15-15 हजार की शास्ती राशि अधिरोपित
लालबर्रा-
ग्राम पंचायत में चले विकास कार्यों के बारे में मांगी गई जानकारी प्रदाय ना किये जाने पर राज्य सूचना आयोग ने दो तत्कालिन पंचायत सचिवो रीतु लांनगे एवं डीजनलाल दशरिये पर 15-15 हजार रुपये शास्ती राशि अधिरोपित अर्थात पेनल्टी लगाई है।

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913


       उल्लेखनीय हो कि अपीलार्थी प्रेस प्रतिनिधि मतीन रजा द्वारा ग्राम पंचायत मिरेगांव व ग्राम पंचायत जाम में सूचना का अधिकार अधिनियम की धारा 19 (1) के तहत आवेदन कर जानकारी चाही गई थी। किंतु समयसीमा पर जानकारी ना मिलने पर द्वितीय अपील मुख्य कार्यपालन अधिकारी लालबर्रा में किया गया जहा पर भी जानकारी ना मिलने पर विधिवत तृतीय अपील राज्य सूचना आयोग में कि गई जहा बकायदा सुनवाई होने के पश्चात यह कार्यवाही को आयुक्त द्वारा अमलीजामा पहना राज्य सूचना आयोग ने निर्णय सुनाया है, कि लालबर्रा विकासखंड की ग्राम पंचायत मिरेगांव के तत्कालिन सचिव श्रीमती रीतु लानगे एवं ग्राम पंचायत जाम तत्कालिन सचिव डीजनलाल दशरिये पर 15-15 हजार रुपये की पेनाल्टी लगाई गई है। उक्त दोनो सचिवो को उक्त राशि आयोग कार्यालय में आदेश तिथि से 1 माह में जमा करने एवं आवेदक को 15 दिन के भीतर पंजीकृत डाक के माध्यम से जानकारी जमा करने को कहा है। इसके अलावा वांछित सूचना की प्रति मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं आवेदक को उपलब्ध करवाने को कहा गया है।


   विदित हो कि मध्यप्रदेश राज्य सूचना आयोग आयुक्त ने ग्राम पंचायत मिरेगांव एवं जाम के तत्कालिन सचिव पर आरटीआई एक्ट की अवहेलना पर 15-15 हजार रुपये की पेनल्टी लगाई है। यह आदेश राज्य मुख्य सूचना आयुक्त डॉ.अरूण कुमार पाण्डेय ने जारी किया है। आयोग ने इसे आरटीआई एक्ट की स्पष्ट अवमानना का मामला करार दिया है। प्रथम अपीलीय प्राधिकारी खंड विकास अधिकारी लालबर्रा को भी निर्देश दिए हैं, कि पहली अपील को 30 से 45 दिन के भीतर सुनिश्चित करने कहा है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: