RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

लूट कांड मामले को मारपीट में परिवर्तित करने में माहिर खरगूपुर पुलिस

लूट कांड मामले को मारपीट में परिवर्तित करने में माहिर खरगूपुर पुलिस

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

पवन कुमार द्विवेदी/गोंडा
इटियाथोक गोंडा- एक तरफ सरकार आम जनमानस की रक्षा सुरक्षा के लिए पुलिस प्रशासन को दिनों दिन मजबूत करती जा रही है लेकिन पुलिस सरकार के द्वारा बनाए गए कानूनों की सरेआम धज्जियां उड़ाने में कोई कसर नहीं छोड रहे हैं इसकी एक बानगी ग्राम पंचायत भटपी में देखने को मिली जहां 26 जनवरी 2022 को रात में जबरदस्त लूट की घटना को अंजाम दिया गया जिसमें लुटेरे घर पर पहुंचते हैं गृह स्वामी को मारपीट कर बांध देते हैं और घर में रखा सामान व नगदी पर हाथ साफ कर चले जाते वहीं पुलिस इस मामले में केवल मारपीट का मुकदमा दर्ज कर मामले की इतिश्री कर लेती है इस बारे में गृह स्वामी अब्दुल रहमान ने अपनी आपबीती सुनाई कि जिसे सुनकर पुलिस की करतूत का पता चलता है पीड़ित अब्दुल रहमान ने बताया 26 जनवरी 2022 को कई लोग उसके घर पर पहुंचते हैं जिसमें से वह केवल 1 लोगों को पहचानता है जिसका नाम संतरे निवासी बंधु पुरवा भट्टपी है उन्होंने बताया घर में रखा करीब ₹26000 नगद दो घड़ी, टार्च, बकरी, मुर्गी ,मुर्गा, बैटरी, सौर ऊर्जा ,मोटर ,ढाबली, एक जोड़ी झाला सहित कई अन्य सामानों पर चोरों ने हाथ साफ किया और उसे मारा-पीटा और बांध दिया जिसका इलाज आज तक चल रहा है जिसके दोनों पैर काम नहीं कर रहे हैं इस बारे में खरगूपुर पुलिस को इसकी जानकारी दी गई लेकिन खरगूपुर पुलिस के द्वारा लूट कांड का मामला दर्ज कर केवल मारपीट का मामला दर्ज कर मामले की इतिश्री कर ली गई वही आज भी लुटेरे खुली हवा में सांस ले रहे हैं और ऐसी ही घटना को अंजाम देने की फिराक में रहते हैं यह घटना साफ-साफ पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगाती है आज भी पुलिस लुटेरों और माफियाओं के आगे घुटने टेकती है और आम जनमानस पर अपना कहर ढाती है करीब 4 माह बीत चुके हैं लेकिन पीड़ित को अभी तक पुलिस के द्वारा कोई न्याय नहीं मिला है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: