RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

वार्ड 11 एवं 12 के बाशिन्दे नारकीय जीवन जिने को मजबुर नगरपालिका की अनदेखी के चलते बदबू एवं गंदगी का साम्राज्य फैला वार्ड में


मनीष कुमट/जैन
झाबुआ । नगरपालिका की अनदेखी के चलते नगरवासी परेशानियों को झेलने को बाध्य है। सफार्इ्र स्वच्छता के नाम पर खानी पूर्ति के अलावा कुछ होरहा हो ऐसा नही लगता है। वनवासी कल्याण परिषद के अध्यक्ष मनोज अरोडा ने नगरपालिका झाबुआ की ढुल मुल कार्यप्रणाली को लेकर सवालिया निशान उठाये है। श्री अरोडा ने बताया कि वार्ड क्रमांक 12 से लगे हुए वार्ड 11 में यादव बिल्डिंग के पीछे वाले भाग में निछले 8 महीने से अधिक समय से लाईट प्रकाश की व्यवस्था ही नही है वही पानी के निकाली के लिये कच्ची नालियां खोद रखी है किन्तु उन्हे पक्का बनाने की दिशा में आज तक कोई कदम नही उठाया गया है। रात बेरात यहा से गुजरने वाले लोगों को दुर्घटना का भय हमेशा ही बना रहता है । नालिया खुदी हुई होने के कारण पूरा गंगदा पानी रास्ते पर आरहा है। जबकि यही से होकर मंदिर में जाने का मार्ग है। ऐसे में श्रद्धालुओं को लम्बी दूरी तय करके तथा घुम कर धार्मिक कार्यो पूजन पाठ आदि के लिये जाना बाध्यता बन चुकी ह। । श्री अरोडा ने यहां सडक भी नही है और सफाई भी नही है फलतः वार्ड के वाशिन्दो को नगरपालिका न जाने कौन सी सजा दे रहा है। स्वच्छता एवं साफसफाई के साथ ही नालियों से बहते पानी को लेकर नगरपालिका में कई बार शिकायते भी की गई किन्तु अभी तक कोई भी कार्यवाही नही होना कइ्र सवालिया निशान खडे करता है। ज्ञातव्य है कि इसी के किनारे ही मेहताजी के तालाब में भी गंदगी के चलते पूरा तालाब बदबू मार रहा है जिससे आसपास के रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल असर होने के साथ ही मौसमी बीमारियों की चपेट मे लोग आरहे हे । इसी तालाब के किनारे नगर का धार्मिक स्थल रामशरणम भी है जहां प्रतिदिन सैकडो की संख्या में श्रद्धालुजन सत्संग के लिये आत है वही पास ही दरगाह भी होने से वहां भी जियारत करने वालों का आना जाना बना रहता है। किन्तु लाईट एवं सडक की सफाई के अभाव में सब कुछ चल रहा हे और नगरपालिका में बैठे जिम्मेवारों ने आज तक ध्यान देना उचित नही समझा है। श्री अरोडा ने कहा कि यदि 3 दिवस के अन्दर इस तरह की समस्या का हल नगरपालिका नही करती है तो वार्डवासियों द्वारा नगरपालिका कार्यालय पर धरना प्रदर्शन करने का मन बनाया जारहा है।

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

Leave a Reply

%d bloggers like this: