RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

दहेजलोभी पंचायत सचिव ससुर सहित इंजीनियर बेटा व परिजनों पर मामला दर्ज

सह.सम्पादक अतुल जैन की रिपोर्ट

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/


वनरक्षक बहू को दे रहे थे प्रताडऩाऐं, थाना कोतवाली ने प्रकरण पंजीबद्ध कर मामला लिया विवेचना में



शिवपुरी। जब ससुर पंचायत सचिव, बेटा इंजीनियर हो और उसके बाद भी बहू यदि शासकीय सेवक के रूप में वन रक्षक मिल जाए तब संभवत: दहेज जैसी कुरीति सामने नहीं आना चाहिए बाबजूद इसके आज के इस जमाने में दहेज लोभी ससुरालियों के पास इतना सब होने के बाद भी वह ना केवल बहू को प्रताडि़त करते बल्कि अपने घर से और दहेज लाने को लेकर मारपीट भी करने से बाज नहीं आते। अपने साथ होने वाली प्रताडऩाओं को लेकर एक वन रक्षक बहू ने दहेजलोभी पंचायत सचिव ससुर, इंजी. बेटा व सास, देवर के विरूद्ध थाना कोतवाली में शिकायत दर्ज कराते हुए प्रकरण पंजीबद्ध कराया है। पुलिस ने मामला विवेचना में ले लिया है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार थाना कोतवाली में फरियाद सुनाते हुए वन रक्षक विवाहिता वर्षा नामदेव पत्नि सुनील नामदेव निवासी जवाहर कॉलोनी शिवपुरी ने बताया कि उसका विवाह 19.11.2019 को शहर के ही नमो नगर निवासी पंचायत सचिव जगदीश नामदेव के इंजी. बेटे सुनील नामदेव साथ हुआ था तत्समय पिता के द्वारा सामथ्र्यअनुसार दहेज देकर बेटी वर्षा को विदा किया गया था चूंकि स्वयं वर्षा शासकीय सेवक के रूप में वन रक्षक के पद पर पदस्थ होकर शासकीय सेवक थी इसलिए ऐसा प्रतीत ही नहीं था कि दहेज को लेकर ससुरालीजन कोई बात करेंगें लेकिन विवाह के कुछ समय तो हालात ठीक रहे बाद में इसी बीच बीते करवा चौथ के दिनों से ससुरालीजनों की दहेज को लेकर प्रताडऩाऐं बढऩे लगी। एक ओर जहां पंचायत सचिव जगदीश नामदेव और पति इंजी.सुनील नामदेव के द्वारा आए दिन वर्षा को अपने मायके से रूपये व अपना पूरा वेतन ससुरालीजनों को दिया जाए, इसे लेकर परेशान किया जाने लगा और ससुरालीजन दहेज ना लाने पर आए दिन विवाहिता वर्षा के साथ मारपीट व जान से मारने की धमकी देकर परेशान करते थे। ऐसे में अपने साथ होने वाली ज्यादतियों को लेकर जब भी ससुरालियों को लेकर वर्षा घर से बाहर निकलने का प्रयास करती तो ससुरालीजन उसे घर में ही बंद कर देते थे। बीती 25 फरवरी को जैसे-तैसे विवाहिता वर्षा नामदेव इन ससुरालियों के चंगुल से बाहर आई तो सीधे पुलिस थाना कोतवाली पहुंचकर अपने साथ हुए घटनाक्रम को लेकर शिकायत दर्ज कराई। जिस पर थाना कोतवाली पुलिस के द्वारा इस मामले में वन रक्षक विवाहिता वर्षा नामदेव की शिकायत पर आरोपी पंचायत सचिव ससुर जगदीश नामदेव सहित सास लक्ष्मी, पति सुनील नामदेव देवर प्रदीप नामदेव निवासी नमो नगर के विरूद्ध धारा 498ए, 323,506,34,दहेज प्रतिषेध अधि.1961 की धारा 3,4 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर मामला विवेचना में ले लिया है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: