RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

केन्द्रीय कृषिवानिकी अनुसंधान संस्थान के निदेशक डॉ.अरूणाचलम ने कृषि विज्ञान केंद्र शिवपुरी का किया भ्रमण

सह.सम्पादक अतुल जैन की रिपोर्ट

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/


शिवपुरी।
 भा.कृ.अनुप.-केन्द्रीय कृषिवानिकी अनुसंधान संस्थान, झांसी के निदेशक डॉ.ए.अरूणाचलम, डॉ.आर.पी.द्विवेदी प्रधान वैज्ञानिक (कृषि प्रसार) सह प्रभारी एटिक सेल एवं अन्य वैज्ञानिकों के दल द्वारा शनिवार को कृषि विज्ञान केन्द्र शिवपुरी का भ्रमण किया।
उन्होंने केंद्र की गतिविधियों में विभिन्न परीक्षण एवं प्रदर्शन इकाईयों- शेडनेट हाउस में स्ट्राबेरी उत्पादन, फसल विविधिता के प्रदर्शन सह बीज उत्पादन कार्यक्रम धनियां चना, एक ही खेत में वर्षभर हरा चारा उत्पादन, समन्वित कृषि प्रणाली इकाई तथा कृषिवानिकी के लिए प्रस्तावित स्टार प्लानटेंशन इकाई का निरीक्षण कर आवश्यक सुझाव भी दिये।
 शिवपुरी जिले के कृषिवानिकी के लिए विकसित किये जा रहे प्रक्षेत्रों में ईको पैराडाइज एवं डॉ.जोगिंदर सिंह फार्म का भ्रमण कर तकनीकी सुझाव दिये।
डॉ.ए.अरूणाचलम ने जिले में कृषिवानिकी तकनीक की ओर अधिक प्रोत्साहित करने तथा बढ़ाने के लिए केन्द्र के समन्वय से सहयोग करने के लिए आश्वस्त किया। डॉ.आर.पी. द्विवेदी प्रधान वैज्ञानिक, काफरी द्वारा जिले के कृषि विज्ञान केन्द्र और केन्द्रीय कृषिवानिकी अनुसंधान केन्द्र से बेहतर कार्य के लिए किये गये कार्यों की सराहना करते हुये तथा आगामी तकनीको को और अधिक बढ़ाने के लिए कहा गया।
केन्द्रीय कृषिवानिकी संस्थान के दल में डॉ.अशोक यादव वैज्ञानिक उद्यानिकी, सुरेश रमन्ना वैज्ञानिक वानिकी, राजेश श्रीवास्तव वरिष्ठ कृषि तकनीकी अधिकारी भी उपस्थित रहे।
वरिष्ठ वैज्ञानिक कृषि विज्ञान केन्द्र शिवपुरी डॉ.एम.के.भार्गव द्वारा केन्द्र के प्रधान वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ.एस.पी.सिंह के मार्गदर्शन में समन्वय से केन्द्रीय कृषिवानिकी अनुसंधान संस्थान, झांसी के वैज्ञानिकों का भ्रमण कराया तथा जिले के परिदृश्य से अवगत कराते हुये फसल विविधिता एवं कृषि वानिकी विकास के लिए संभावनाओं के बारे में चर्चा करते हुये जानकारी दी गई। केन्द्र पर प्रजनक बीज उत्पादन कार्यक्रम एवं टमाटर के बारे में केंद्र के वैज्ञानिक डॉ.पुष्पेंद्र सिंह द्वारा जानकारी दी गई।

Leave a Reply

%d bloggers like this: