व्यापारियों द्वारा कम दाम पर सोयाबीन खरीदे जाने से नाराज किसानों ने किया हंगामा, एक घंटा बंद रही खरीदी

– अव्यवस्था पर बिफरे किसान।

– व्यापारी और किसानों के बीच बहसबाजी भी हुई।

शाजापुर। कृषि उपज मंडी में व्याप्त अव्यवस्था और व्यापारियों द्वारा कम दाम पर सोयाबीन खरीदे जाने से नाराज किसानों ने विरोध जताते हुए हंगामा खड़ा कर दिया। करीब एक घंटे से अधिक चला हंगामा एसडीएम के आश्वासन के बाद शांत हुआ। चार दिनों के अवकाश के बाद कृषि उपज मंडी में गुरुवार को खरीदी का कार्य शुरू किया गया। इस दौरान आलू, प्याज और सोयाबीन की बंपर आवक होने से मंडी में अव्यवस्था व्याप्त हो गई। इधर किसानों ने सोयाबीन की बोली के दौरान यह कहकर हंगामा खड़ा कर दिया कि उनकी सोयाबीन व्यापारियों द्वारा कम दाम पर खरीदी जा रही है। हंगामे के बाद मंडी में खरीदी कार्य बंद हो गया। इधर सूचना मिलने पर एसडीएम शैली कनास मौके पर पहुंची और किसानों तथा व्यापारियों से चर्चा कर मामला शांत कराया।

किसानों का आरोप था कि अन्य मंडी में ए ग्रेड के सोयाबीन का दाम 6200 रुपए प्रतिक्विंटल है, लेकिन इसके बावजूद शाजापुर कृषि उपज मंडी में सोयाबीन 4700 से 5180 रुपए प्रति क्विंटल के दाम पर व्यापारियों के द्वारा खरीद जा रहा था जिसका विरोध किया गया। किसानों का कहना है कि वे व्यापारियों की मनमानी के चलते सस्ते दाम पर सोयाबीन नही बेचेंगे और अपने अधिकार के लिए आंदोलन करेंगे। इस चेतावनी के बाद मंडी में खरीदी कार्य शुरू किया गया।

इसे भी पढ़े : जमीन विवाद पर भाई के साथ मारपीट करने वाले आरोपीगणों को न्यायालय ने दी 04-04 माह कठोर कारावास की सजा

बंपर आवक से चरमराई व्यवस्था

उल्लेखनीय है कि चार दिनों के अवकाश के बाद शाजापुर कृषि उपज मंडी में गुरुवार से खरीदी का कार्य शुरू किया गया। कृषि उपज मंडी में ही आलू, प्याज की खरीदी भी की जा रही है। ऐसे में आलू, प्याज और सोयाबीन की बंपर आवक होने से मंडी में व्यवस्था चरमरा गई जिससे किसानों को उपज बेचने के लिए परेशान होना पड़ा। किसानों का कहना है कि पहले मंडी में व्याप्त अव्यवस्था ने परेशान किया और इसके बाद व्यापारियों ने कम दाम पर सोयाबीन की बोली लगाकर किसानों का शोषण करना शुरू कर दिया जिसको लेकर प्रदर्शन किया गया। एसडीएम के हस्तक्षेप के बाद किसान शांत हुए और मंडी में खरीदी का कार्य पुन: प्रारंभ हुआ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: