त्यौहारो पर तो करने दो फुटपाथ पर व्यापार

उज्जैन : दीपावली का त्यौहार काफी महत्वपूर्ण माना जाता है और बाजारों में भी खरीदारी करने के लिए भीड़ उमडती है ऐसे में फुटपाथ पर व्यापार करने वाले छोटे-मोटे व्यापारी भी इस आशा के साथ अपनी दुकान लगाते हैं ताकि वह भी दीपावली का त्यौहार मना सकें परंतु फुटपाथ पर व्यापार करने वाले व्यापारियों को प्रशासन खदेड़ कर भगा देता है ऐसे यह लोग निराश हो जाते हैं छत्री चौक गोपाल मंदिर फ्रीगंज सहित कई स्थानों पर फुटपाथ पर छोटी मोटी दुकान लगाकर अपना व्यापार करते हैं जिसमें लक्ष्मी जी की मूर्ति दिए और पूजन सामग्री का विक्रय सबसे अधिक करते हैं ।

इसे भी पढ़े :महिला ने लगाई फांसी

यह लोग इतना मुनाफा भी नहीं कमाते हैं जबकि बड़े व्यापारी फुटपाथ पर व्यापार करने वाले की अपेक्षा महंगे दामों पर सामान का विक्रय करते हैं और आने वाले ग्राहक भी फुटपाथ से ही सामान खरीदना सबसे अधिक पसंद करते हैं जैसे ही दीपावली का पर्व नजदीक आता है तो यह लोग फुटपाथ पर अपनी दुकान है सजा लेते हैं परंतु प्रशासन यातायात का हवाला देकर इनकी दुकान है हटवा देता है कई बार तो दुकानदार और पुलिस के बीच भी बहस होती है ।

यहां पर छोटे दुकानदारों की एक भी नहीं चलती है जबकि प्रशासन को इन लोगों के लिए भी फुटपाथ के किनारे इस प्रकार की व्यवस्था करना चाहिए ताकि यातायात भी बाधित ना हो और यह लोग अपना व्यापार कर सके परंतु इस प्रकार की व्यवस्था पुलिस प्रशासन और जिला प्रशासन आज तक नहीं कर पाया है कई बार तो छोटे व्यापारी उधार पैसा लेकर दुकान लगाते हैं और यह सोचते हैं कि कुछ दुकान से मुनाफा हो जाएगा तो उधार भी चुकता कर दिया जाएगा और परिवार के साथ सबसे बड़ा त्यौहार दीपावली भी मन जाएगी परंतु इन लोगों के साथ ऐसा हो नहीं पाता है और यह लोग बेबस और लाचार होकर प्रशासन का मुंह देखते हैं ।

जैसे ही यातायात विभाग इनकी दुकान है हटाने के लिए आता है तो इनके चेहरे पर निराशा के भाव खड़े हो जाते हैं जबकि फुटपाथ पर दुकान लगाने वाले अपने परिवार के सदस्यों का भी सहयोग लेते हैं छोटे बच्चे भी दुकान में हाथ बटाते हैं ताकि यह लोग भी आतिशबाजी कर सके।

Leave a Reply

%d bloggers like this: