बच्ची को बनाया हैवान ने अपनी हवस का शिकार

दो घंटे तक मजिस्ट्रेट बच्ची के साथ वार्ड में रही।

बच्ची का मुंहबोला मामा ही उसे उठा कर ले गया और रेप के बाद बाहर छोड़ गया।

बच्ची घर के बाहर ही खून से लतपथ हालात में मिली

मासूम हादसे के बाद से बोल नहीं पा रही थी।

टोंक जिले में 8 दिन पहले एक मासूम को रेप के बाद जयपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया। बच्ची के बयान लेने के लिए 2 दिन पहले जयपुर से स्पेशल मजिस्ट्रेट अस्पताल पहुंचीं। बच्ची इतनी डरी और सहमी थी कि कुछ बता नहीं पाई। बयान के लिए काफी चुनौती उठानी पड़ी। दो घंटे तक मजिस्ट्रेट बच्ची के साथ वार्ड में रही।

इसे भी पढ़े :सूने घर में चोरी की वारदात

बयान के लिए बच्ची की मां और मजिस्ट्रेट ने उसे दुलारा भी, लेकिन वह बोल नहीं पाई। इस दौरान मां की आंखों में भी आंसू आ गए थे। इस पर मां ने एक 10 रुपए का नोट निकाल बच्ची को दिया और प्यार जताते हुए सिर पर हाथ फेरा। बच्ची कुछ नॉर्मल हुई। मजिस्ट्रेट पूछने लगी तो मां की तरफ देखने लगी। कुछ नहीं बोली।

मां ने मजिस्ट्रेट के सामने बच्ची से पूछा कि किसने मारा है‌‌? तब इशारों में बोली कि मुंह बोले मामा ने। फिर पूछा कहां पर मारा है। हाथ से इशारा करते हुए जगह बताई। मासूम हादसे के बाद से बोल नहीं पा रही थी। उसने इशारों में ही पूरी बात बताई। मजिस्ट्रेट ने भी बच्ची से इशारों के आधार पर ही बयान दर्ज किए। उसे कुछ पता नहीं था कि उसके साथ क्या हुआ है। मजिस्ट्रेट ने पुलिस अधिकारियों के साथ बयानों के पूरी वीडियोग्राफी करवाई। टोंक पुलिस ने मासूम से रेप के आरोपी मुंह बोले मामा को गिरफ्तार कर लिया है।

इसे भी पढ़े : जहां बनना था नाला वहां बना दी नाली

टोंक में खून से लतपथ मिली थी बच्ची

बच्ची घर के बाहर ही खेल रही थी। इस दौरान बच्ची का मुंहबोला मामा ही उसे उठा कर ले गया और रेप के बाद बाहर छोड़ गया। बच्ची घर के बाहर ही खून से लतपथ हालात में मिली थी। इलाज के बाद जयपुर अस्पताल में रेफर कर दिया गया। मामला सामने आने के बाद आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया। बच्ची के 164 के बयान भी कराए गए। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अब आरोपी के खिलाफ कोर्ट में जल्द से जल्द चालान पेश करने में लगी है।

प्रतीकात्मक चित्र

Leave a Reply

%d bloggers like this: