महाकाल को लगेगा केसरिया दूध का भोग

शहर के विभिन्न मंदिरों,और घरों में होंगे धार्मिक आयोजन

उज्जैन। शरद पूर्णिमा का पर्व  बुधवार को मनाया गया। शहर के घरो सहित मंदिरोें के साथ ही श्री महाकालेश्वर मंदिर में बुधवार सुबह भस्म आरती व संध्या आरती के दौरान बाबा महाकाल को केसरिया दूध का भोग अर्पित किया गया। वहीं आज गुरूवार को कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा से आरती के समय में परिवर्तन होगा।

इसे भी पढ़े : पति ने पत्नी की बात न मानी तो जानिए पत्नी ने क्या कर डाला !

शहर के विभिन्न मंदिरों में बुधवार को पूर्णिमा के अवसर पर धार्मिक आयोजन होगें। वहीं विश्व प्रसिद्ध श्री महाकालेश्वर मंदिर में शरद पूर्णिमा पर बाबा महाकाल को सुबह होने वाली भस्म आरती और संध्या की आरती के दौरान केसरिया दूध का भोग लगाया जाएगा। महाकाल में वर्ष में दो बार प्रतिदिन होने वाली आरती के समय में भी परिवर्तन होता है। कृष्ण प्रतिपदा गुरूवार से समय परिवर्तीत होगा।

आज से बदलेगा आरती का समय

आज गुरूवार को कृष्ण प्रतिपदा से महाकाल मंदिर में समय परिवर्तन के बाद आरती का समय प्रात: होने वाली द्दयोदक आरती 7:30 से 8:15 तक, भोग आरती प्रात: 10:30 से 11:15 तक व संध्या आरती सायं 6:30 से 7:15 बजे तक होगी। इसी प्रकार भस्मार्ती प्रात: 4 से 6 बजे तक, सायंकालीन पूजन सायं 5 से 5:45 तक एवं शयन आरती रात्रि 10:30 से 11 बजे तक अपने निर्धारित समय पर ही होगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: