सरकारी अस्पतालों में नहीं हो रहे ऑपरेशन

 उज्जैन। पिछले हफ्ते शुक्रवार से चरक अस्पताल में प्रसुताओं के ऑपरेशन एनेस्थिमिया विशेषज्ञ डॉक्टर के अभाव में बंद कर दिए गए थे। इसके बाद जिला अस्पताल के हडड़ी और अन्य सर्जरी  में भी यही समस्या खड़ी हो गई है।

इसे भी पढ़े :कैडबरी डेरी मिल्क चॉकलेट में स्वाद परिवर्तन व इल्ली पड़ने की शिकायत

यहां भी विशेषज्ञ डॉक्टर के अभाव में किसी का ऑपरेशन नहीं हो पा रहा। प्रसुताओं से लेकर अन्य बीमारी के मरीजों को मजबूरी में सरकारी अस्पताल से प्रायवेट अस्पताल जाना पड़ रहा है।  अस्पताल में हुए हंगामे के बाद से जिला अस्पताल के उक्त  ऑपरेशन बंद कर दिए गए है। इसके पीछे कारण यह बता रहे हैं।

जिला अस्पताल और चरक अस्पताल में सर्जरी से पहले बेहोशी   दवा देने वाले दो ही डॉक्टर से इनमें से एक का  अनुबंध है, जबकि दूसरे डॉक्टर लंबे समय से बीमारी का देकर अवकाश पर है।  

यहाँ जिला अस्पताल में भी   रोजाना 25 से 30 मरीजों के आपरेशन होते हैं। इतने लोग यहां हर समय सर्जरी के लिए कतार में रहते हैं। अस्पताल सूत्रों के मुताबिक में भी एक दिन में लगभग 15 से 20 गर्भवती की सर्जरी करने की आवश्यकता होती है। 

Leave a Reply

%d bloggers like this: