बांग्लादेश में हिंदू मंदिरों पर हमले के खिलाफ में सड़क पर उतरे हिंदूवादी संगठन

अल्पसंख्यक हिंदुओं को सुरक्षा देने की उठी मांग

राष्ट्रपति के नाम डीएम को सौंपा स्मार पत्र

गया।बांग्लादेश में इस्कॉन मंदिर समेत अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय पर हो रहे हमले के विरोध में समस्त हिंदूवादी संगठनों ने मंगलवार को शहर में शांतिपूर्वक विरोध मार्च निकाला। हिंदू युवा शक्ति संघ एवं अनेकों हिंदू संगठन द्वारा इस्कॉन मंदिर से निकाला विरोध मार्च इस्कॉन मंदिर से निकलकर जयप्रकाश झरना, काशी नाथ मोड़ होते हुए समाहरणालय के पास आकर सभा में विसर्जित हो गई। हिंदूवादी नेता एवं कार्यकर्ता हाथों में तख्तियां और बैनर लेकर मंदिरों पर हो रहे हमले पर विरोध जता रहे थे। इस बीच प्रदर्शनकारियों ने बांग्लादेश में हिंदू मंदिरों और हिंदुओं की सुरक्षा को लेकर राष्ट्रपति के नाम जिलापदाधिकारी को एक स्मार पत्र सौंपा।

इसे भी पढ़े : विधायक के बेटे करण मोरवाल को पकड़ने के लिए नए-नए पैतरे अपना रही

हिंदू युवा शक्ति संघ के प्रवक्ता पंडित राजा आचार्य ने कहा की विश्व में सबसे ज्यादा हिंदुओं को प्रताड़ित किया जाता है। भारत देश एवं अनेकों देशों में हिन्दू मंदिरो में तोड़फोड़,हिंदू साधु संत की निर्मम हत्या,हिन्दूओ पर हमले जिहादी कट्टरपंथी गुट के द्वारा निरंतर होते रहते है। इस्कॉन मंदिर के पुजारी जगदीश श्याम दास ने कहा की बांग्लादेश मे इस्कॉन मंदिर पर हुए हमले तथा हिंदुओ पर अत्याचार को लेकर इस्कॉन मंदिर से सभी हिंदू संगठन द्वारा विरोध मार्च निकाला गया।

बांग्लादेश में हिंदुओं के मंदिरों पर किये गये हमले की तीव्र निंदा करते हुए उन्होंने भारत सरकार से हस्तक्षेप कर घटना में संलिप्त लोगों पर कार्रवाई करने की मांग की। विरोध मार्च में विनय गुप्ता, गोल्डी गायब, छोटू बारीक, नंदू बारीक, विकाश सिन्हा, शशांक मिश्र,सूरज सिंह किशोर गुर्दा,रामु गुपुत,नीतीश यादव नीतीश विट्ठल सुरेंद्र सिंह नवीन बर्मा,कमल बारिक, अजय कटरियार,रोहाम सिंह,रेहान सिंह सन्नू टईय्या, नितिन सिंह सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: