असमाजिक तत्वों ने किया बाबा साहब का चबूतरा क्षतिग्रस्त,

अनुयायियों ने दी आंदोलन की चेतावनी

मौके पर जमा बाबा साहब के अनुयायी

सूचना मिलने पर तहसीलदार मौके पर पहुंचे।

चबूतरे पर स्थापित बाबा साहब के चित्र को भी तोडक़र फेंक दिया गया।

शाजापुर। संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के चबूतरे को अज्ञात बदमाशों द्वारा क्षतिग्रस्त कर दिया गया। जब इस बात की सूचना अनुयायियों को लगी तो वे बड़ी संख्या में मौके पर पहुंचे और घटना को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। इधर सूचना मिलने पर अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की बात कहकर मामला शांत कराया। उल्लेखनीय है कि समीपस्थ ग्राम टुकराना में करीब 20 वर्षों से सामाजिक समिति द्वारा चबूतरा बनाकर संविधान निर्माता बाबा साहब अंबेडकर का चित्र स्थापित किया हुआ है।

इसे भी पढ़े : विधायक के बेटे करण मोरवाल को पकड़ने के लिए नए-नए पैतरे अपना रही

बीती रात अज्ञात असमाजिक तत्वों के द्वारा बाबा साहब के चबूतरे को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। साथ ही चबूतरे पर स्थापित बाबा साहब के चित्र को भी तोडक़र फेंक दिया गया। मंगलवार दोपहर को जब इस बात की जानकारी भीम सेना के प्रदेश संगठन मंत्री कमल मालवीय, प्रजातांत्रिक समाधान पार्टी जिलाध्यक्ष राजेश गोयल, राजेंद्र चोखुटिया, परबतलाल, शिवनारायण, सीताराम, दीपक शिंगनिया को लगी तो वे तुरंत ही घटना स्थल पर पहुंचे और विरोध जताया। वहीं तहसीलदार राजाराम करजरे, एसडीओपी दीपा डोडवे भी मौके पर पहुंचीं और अज्ञात बदमाशों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की बात कही।

अनुयायियों ने बताया कि ग्राम टुकराना में करीब 20 सालों से बाबा साहब का चबूतरा बना हुआ है जिस पर अम्बेडकर अनुयायी पूजा-अर्चना करते आए हैं। साथ ही 14 अप्रैल के दिन बड़े पैमाने पर लोगों का आना जाना लगा रहता है, लेकिन इसके बाद भी लगातार चबूतरे को क्षतिग्रस्त किया जाता रहा है। पूर्व में भी चबूतरे को क्षतिग्रस्त कर दिया गया था जिसकी शिकायत की गई थी।

इसे भी पढ़े : शर्लिन को महंगा पड़ा शिल्पा राज से दुश्मनी लेना

बाबा साहब के अनुयायियों ने चेतावनी दी है कि यदि शीघ्र ही दोषियों का पता लगाकर उन्हे गिरफ्तार नही किया गया तो आंदोलन किया जाएगा। बर्दाश्त नही करेंगे बाबा साहब का अपमान टुकराना में बाबा साहब के चबूतरे को क्षतिग्रस्त करने के मामले में सामाजिक संगठनों ने आंदोलन की चेतावनी दी है। संगठन के पदाधिकारियों का कहना है कि बाबा साहब का अपमान बर्दाश्त नही किया जाएगा। आए दिन बाबा साहब के चबूतरे को असमाजिक तत्वों के द्वारा नुकसान पहुंचाया जाता है, जिस पर नकेल कसा जाना बेहद जरूरी है। यदि अपमान करने वालों के खिलाफ जल्द ही कार्रवाई नही की गई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा जिसकी समस्त जिम्मेदारी प्रशासन की रहेगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: