संभागायुक्त ने निगम आयुक्त को दिए निर्देश शहर से हो मच्छर का सफाया

गली मोहल्ले कॉलोनीयो सहित बाजारों में भी हो डीडीटी छिड़काव घूमे फागिंग मशीन

उज्जैन। शहर में मच्छरों के कारण फैल रही बीमारियों के चलते संभाग आयुक्त संदीप यादव ने उज्जैन नगर पालिक निगम के आयुक्त अंशुल गुप्ता को निर्देश दिए हैं कि शहर की तमाम कालोनियों गली मोहल्लों सहित बाजारों में भी डीडीटी का छिड़काव हो और फागिंग मशीन द्वारा दवाई का धुआं किया जाए।

इसे भी पढ़े : बलाई समाज के अध्यक्ष पर जानलेवा हमला

शहर के सरकारी और निजी अस्पतालों में डेंगू मलेरिया और वायरल के मरीजों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है उपचार के लिए लोगों को इंदौर भी रेफर किया जा रहा है जिला चिकित्सालय में प्रतिदिन की भीड़ देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि डेंगू वायरल और मलेरिया का प्रकोप धीरे धीरे अनियंत्रित होता जा रहा है। बावजूद इसके नगर निगम की ओर से कोई कारगर उपाय नहीं किए जा रहे हैं प्रतिदिन विज्ञापनों के जरिए यह बता दिया जाता है कि शहर में प्रतिदिन फागिंग मशीन द्वारा दवाई छिड़काव किया जा रहा है गली मोहल्लों में भी डीडीटी का छिड़काव हो रहा है लेकिन इसकी जानकारी आम शहर वासियों को ही नहीं है।

शहर भर में मच्छरों से लोग परेशान हो रहे हैं जिसे लेकर सोमवार को संभागायुक्त संदीप यादव ने जिम्मेदारी उठाते हुए नगर निगम आयुक्त को निर्देश दिए है कि शहर की सभी कॉलोनियों गलियों मोहल्लो के साथ-साथ त्योहारी सीजन को देखते हुए बाजारों में भी डीडीटी का छिड़काव और फॉगिंग मशीन को घुमा कर दवाई उड़ाई जाए ताकि मच्छरों का खात्मा किया जासके।

इसके अलावा लारवा नष्ट करने के भी कारगर उपाय हो ताकि शहर वासियों को मच्छरों से निजात मिल सके और स्वास्थ्य पर इसका बुरा असर ना हो देखने में आ रहा है कि निजी अस्पतालों सहित शासकीय अस्पताल में भी इन दिनों वायरल डेंगू और मलेरिया के मरीजों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है।बारिश के पानी से जगह-जगह भरे हुए गड्ढे मच्छरों के पनपने का एक मुख्य कारण यह भी है कि बारिश के पानी की निकासी नहीं हो रही है ।

सड़कों के गड्ढों पर जगह-जगह पानी भरा हुआ है वही शहर के नाला नालियों की सफाई लंबे समय से नहीं की जा रही है जहां नाली सफाई की जा रही है नाली से निकला कचरा वही ढेर लगाकर छोड़ दिया जाता है जो 2 से 3 दिनों तक पड़ा रहता है इस कारण भी मच्छर पनप रहे हैं नतो नगर निगम के अधिकारी इस ओर ध्यान दे रहे हैं और ना ही सफाई कर्मी रहवासियों की बात सुनकर इन्हें यहां से हटाते हैं शहर की जनता इस असमंजस में है कि शिकायत आखिर किस से करें ताकि यह समस्या से निजात मिल सके।कचरा वाहनों से सड़कों पर बिखरता जाता है ।

कचराकई क्षेत्रों में रह वासियों के शिकायत है कि कचरा कलेक्टिंग वाहन प्रतिदिन कचरा लेने आता है इसमें कोई दो राय नहीं है लेकिन इस पर आने वाले कर्मचारी एस इस व्यवस्था को सही करने के बजाय और विधायक रहे हैं कचरा वाहन से कचरा पीछे गिरता हुआ चलता है जिस पर वाहन के साथ कर्मचारी इस कचरे को दोबारा नहीं उठाते हैं जिसके कारण गलियों में गंदगी पसरी हुई मिलती है वहीं कई कालोनियों में सफाई कर्मियों द्वारा सुबह शाम झाड़ू निकलने का काम नहीं हो रहा इस पर भी निगम के स्वास्थ्य विभाग को ध्यान देने की आवश्यकता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: