माथे पर टीका, आंखों मे सुरमा, गले में गमझा सोशल मीडिया पर सक्रिय

उज्जैन : दुर्लभ कश्यप की मौत के बाद पुलिस ने यह अनुमान लगा लिया कि इस गैंग का सफाया हो गया है लेकिन अभी भी इस गैंग के कुछ सदस्य सक्रिय हैं और सोशल मीडिया पर अपनी पोस्ट डाल रहे हैं शहर में बदमाशों का नया ट्रेड चलन में है आंखों में सुरमा माथे पर टीका और गले में गमछा पुलिस से बैखौफ यह बदमाश दहशत फैलाने के लिए हथियारों की पोस्ट भी सोशल मीडिया पर डाल रहे हैं यह ट्रेड3 साल पहले 20 साल के गुंडे दुर्लभ कश्यप ने शुरू किया था । 

इसे भी पढ़े : चेन झपटने के बाद अपनी शर्ट बदल लेते थे आरोपी

जिसकी हेलाबाड़ी में 6 बदमाशों ने हत्या कर दी थी इसके बाद दुर्लभ  गैंग में शामिल नई उम्र के लड़कों ने फौज तैयार कर ली जिसका उद्देश्य लोगों में दहशत पैदा करना है बदमाशों ने सोशल मीडिया पर हथियार वाली पोस्ट डाल कर लिखा कि हमारे यहां देसी कट्टा पिस्टल रिवाल्वर आसानी से मिल जाएगी इसके साथ एक नंबर भी दिया था पोस्ट के वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई अब पुलिस में लोगों को सलाह दी कि बदमाश धोखाधड़ी करने के लिए इस प्रकार की पोस्ट डाल रहे हैं जो बिहार राजस्थान और हरियाणा की संगठित गैंग के रूप में सक्रिय है । 

लेकिन पुलिस ने दुर्लभ कश्यप की गैंगवार में मौत के बाद सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने वाले गैग की सफाया की ओर ध्यान नहीं दिया अगर पुलिस इस गैंग के सफाई पर ध्यान देती तो यह स्थिति निर्मित नहीं होती पुलिस भले ही थे बाहरी प्रदेशों में बैठे धोखाधड़ी करने वालों की गैंग बता रही है जबकि वास्तविकता यह है कि दुर्लभ गैंग के सदस्य अब भी सक्रिय हैं जो  दहशत  बरकरार रखना चाहते हैं इस तरह की कई शिकायत पिछले दिनों पुलिस तक भी पहुंची परंतु पुलिस ने इन शिकायतों को हल्के में लिया नतीजा यह निकला कि बदमाशों के हौसले बुलंदी पर हैं । 

वही दुर्लभ की मौत के बाद पुलिस ने नामजद आरोपियों को भी पकड़ा जो अब जेल से छूटकर दहशत फैलाना चाहते हैं बल्कि पुलिस को इनके पूरे नेटवर्क पर बुलडोजर चलाना चाहिए। आजकल नई उम्र के लड़के सोशल मीडिया से जुड़े रहते हैं और वे सोशल मीडिया पर किसी भी प्रकार की पोस्ट भेज देते हैं यह लो इस बात की भी परवाह नहीं करते हैं कि इसका अंजाम क्या होगा पुलिस के पास साइबर सेल सहित एक बड़ा अमला भी है लेकिन इसके बाद भी बदमाशों को पकड़ नहीं पा रही है । 

ऐसे में यह बेखौफ शहर में घूम कर दहशत फैलाने का काम करते हैं क्योंकि अब त्योहारों का सीजन है और बदमाशों की गैंग सक्रिय है ऐसे में यह आए दिन दहशत फैलाने के लिए नए-नए तरीके तलाश करते रहते हैं ताकि सोशल मीडिया पर यह लोग सुर्खियां बटोर सके और व्यापारियों से उगाई कर सके। 

Leave a Reply

%d bloggers like this: