कोरोना इफेक्टःलगातार दूसरे वर्ष भी नहीं होंगा कौमुदी महोत्सव, कला प्रेमियों में छाई मायूसी

गया। शहर के आजाद पार्क में शरद पूर्णिमा के अवसर पर हर वर्ष आयोजित होने वाला कौमुदी महोत्सव एक बार फिर से वैश्विक बीमारी कोरोना की भेंट चढ़ गया है। वर्ष 2000 में जनकवि सुरेंद्र सिंह सुरेंद्र द्वारा इस महोत्सव की शुरुआत करने के बाद 2019 तक लगातार इसका आयोजन किया जाता रहा। परंतु वर्ष 2020 में कोरोना को लेकर महोत्सव पर रोक लगा दी गई थी।

इसे भी पढ़े : सूने मकान में चोरी, आभूषण और लेपटॉप ले उडे़

जो इस वर्ष भी जारी है। इस महोत्सव के आयोजन को लेकर जिला प्रशासन द्वारा अनुमति नहीं दी गई है। इसे देखते हुए इस वर्ष भी आजाद पार्क में कौमुदी महोत्सव का आयोजन लगातार दूसरे वर्ष भी नहीं हो सकेगा। उत्सव संयोजक सुरेंद्र सिंह ‘सुरेंद्र’ ने बताया कि प्रेम और अनुराग का पर्व कौमुदी महोत्सव हमारे जन संस्कृति को प्रतिबिंबित करता है। आज के बाजारवादी संस्कृति में लुप्त हो रहे नृत्य- कला,संगीत,नाटक, लोक संस्कृति को सहेजने का एक मंच कौमुदी महोत्सव था। महोत्सव के आयोजन नही होने से कला प्रेमियों में मायूसी छाई हुई है।

प्रतीकात्मक चित्र

Leave a Reply

%d bloggers like this: