रामचरितमानस पाठ हवन के साथ संपन्न, भंडारे का हुआ आयोजन

श्री राम के आदर्शों एवं गुणों को अपने जीवन में उतारेः डालमिया

गया। धामीटोला स्थित डालमिया सदन में श्री रामचरितमानस नवाह पारायण यज्ञ समिति की ओर से नवरात्र में चल रहे रामायण पाठ की पूर्णाहुति हवन के साथ विजयादशमी के दिन संपन्न हुआ। जहां नौ दिनों तक 31 भूदेवों द्वारा श्रद्धा एवं भक्ति भाव के साथ रामायण की पंक्तियां और श्लोक का संपूर्ण पाठ के उपरांत विधिवत पूजन यज्ञ हवन कर पाठ की पूर्णाहुति की गई। इस दौरान रामायण के श्लोको से पूरा वातावरण गुंजायमान हो रहा था।

इसे भी पढ़े : चाचा की हत्या करने के बाद भतीजा बोला मैने बदला ले लिया

पंडाल में भगवान राम दरबार,राम-लक्ष्मण,भरत शत्रुघ्न,सीता जी,हनुमान जी,गणेश जी की प्रतिमा को विराजमान करा कर प्रतिदिन विशेष पूजा अर्चना की गई। शनिवार को प्रतिमा को गाजे-बाजे के साथ फल्गु नदी में विसर्जित की गई।वहीं रविवार को भव्य भंडारा का आयोजन किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों ने महा प्रसाद ग्रहण किया। समिति के अध्यक्ष सह समाजसेवी शिव कैलाश डालमिया ने बताया कि इस वर्ष 52 वां रामायण पाठ में मथुरा से पधारे कथावाचक राधेकांत जी महाराज के निर्देशन में रामायण पाठ का आयोजन किया गया। पूरे नौ दिनों तक भगवान राम के चरित्र पर आधारित रामचरितमानस का पाठ किया गया। उन्होंने कहा कि मानस पाठ की श्रवण मात्र से प्राणियों का कल्याण हो जाता है।

श्री राम के आदर्शों एवं गुणों को अपना कर व्यक्ति अपने व्यक्तित्व का विकास कर सकता है। वही प्रतिदिन संध्या बेला में कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया था।इस अवसर पर रेणु डालमिया, उषा डालमिया,बादशाह डालमिया,विनोद जसरापुरिया, विकास शर्मा सहित कई लोग उपस्थित थे।

प्रतीकात्मक चित्र

Leave a Reply

%d bloggers like this: