रसोईघर से बढ़ने लगी प्याज और टमाटर की दूरी

लोगो के घरों का बिगड़ा बजट

उज्जैन। शहर के लोगों पर महंगाई की एक और मार पड़ी है। सब्जियों के आसमान छू रहे दाम की वजह से किचन का बजट बिगड़ गया है। सब्जी मंडी के एक विक्रेता का कहना है, थोक में टमाटर की कीमत 60 रुपये प्रति किलोग्राम है। दाम बढ़ने के पीछे की वजह बताते हुए दुकानदार का कहना है कि बारिश की वजह सब्जियों के उत्पादन पर असर पड़ा है। इसके अलावा पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ रहीं कीमतें भी इसकी मुख्य वजह है।दरअसल माल ढुलाई करने वाले वाहनों का किराया बढ़ गया है। बाहर से आने वाली सब्जियों की ढुलाई की वजह से सब्जी विक्रेता इसके भी दाम बढ़ा दिए हैं।

इसे भी पढ़े : पुलिस ने की 20 लीटर अवैध हाथ भट्टी शराब जब्त

शहर की बड़ी मंडी से मिली जानकारी के अनुसार, खुदरा बाजार में टमाटर की कीमतें तेजी से बढ़ रही हैं। मंडी में टमाटर 60 रुपये प्रति किलोग्राम तो खुदरा बाजार में इसकी कीमतें 80 रुपये प्रति किलो या फिर उससे ज्यादा हो गई है। इसके अलावा अन्य हरी सब्जियों के दाम भी तेजी से बढ़े हैं। इसके साथ ही प्याज की कीमतें भी बढ़ी हैं। सब्जियों के दाम बढ़ने से लोगों की जेब पर खासा असर पड़ रहा है। 

मंडी में भी बढ़े टमाटर के दाम 

सब्जी मंडी में भी सब्जियों की कीमतों में उछाल आया है। टमाटर के दाम भी तेजी से बढ़े हैं। एक महीने पहले थोक में अधिकतम 20 रुपये किलो तक बिकने वाला टमाटर अब 60 रुपये तक पहुंच गया है। इसकी वजह खुदरा बाजारों में टमाटर प्रति किलो 80 रुपये में बिक रहा है।

रसोईघर से बढ़ने लगी प्याज और टमाटर की दूरी

दैनिक चिरंतन संवाददाता के अनुसार, जो प्याज पहले 25 से 30 रुपये प्रति किलो बिक रहा था, वह लंबी छलांग लगाकर 70 से 80 रुपये के स्तर पर पहुंच चुका है। व्यापारियों का कहना है कि आने वाले समय में इसके भाव में और तेजी से इनकार नहीं किया जा सकता। वहीं, टमाटर तीन दिन पहले 100 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव तक पहुंच गया था। पहले यह 30 रुपये के भाव था जो रविवार 80 रुपये प्रति किलोग्राम में बिक रहा है।

सब्जी भाव रुपये प्रति किलो

टमाटर- 50 से 80, प्याज-55 से 60, आलू- 20 से 25,फूल गोभी-80, कद्दू-40-करेला-80, लोकी-40, खीरा-60, मेथी-120, मूली-50, लहसुन-120टमाटर, प्याज समेत अन्य सब्जियों के लगभग यही दाम अन्य शहरों में भी है।  

Leave a Reply

%d bloggers like this: