विजयादशमी पर्व के उपलक्ष्य में नगर मे निकला पथ संचलन

_कदमताल करते हुए अनुशासन में निकले स्वयंसेवक, जगह जगह पुष्पवर्षा कर किया स्वागत_

_संस्कृति के अभाव व भय में कई देशों का इतिहास मिट गया – जिला प्रचारक श्री चौहान_

अकोदिया : जिस प्रकार वर्षों से चली आ रही धारा 370 की जकड़ से कश्मीर मुक्त होकर भारत का अभिन्न अंग हुआ। 500 वर्षों से चला आ रहा राम मंदिर का विषय अंतिम में जहां पर जन्मे थे रामलीला वहीं पर मंदिर निर्माण की शुरुआत हुई। ऐसे ही यह देश एक दिन कार्य की गति के अनुसार हिंदू राष्ट्र होगा ही। उक्त बातें रविवार को नगर अकोदिया के स्वयंसेवको को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जिला प्रचारक रजत चौहान ने कही। 

संचलन कार्यक्रम में आरएसएस विभाग कार्यवाह महेन्द्र धनगर, शाजापुर जिला प्रचारक श्री चौहान, अकोदिया नगर कार्यवाह मुकेश मेवाड़ा उपस्थित थे। जिला प्रचारक श्री चौहान ने कहा कि हिंदू राष्ट्र से मतलब त्रेता युग के राजा श्री रामजी के समय से है।  रावण जैसे आताताई राक्षसों की टोली को समाप्त करने के बाद उस समय चहु और वेद मंत्रों की ध्वनि से आकाश गुंजायमान रहता था। सभी और शांति थी। कोई भूखा ना रहे इसकी पूरी योजना कार्य के आधार पर कि गई थी।

इसे भी पढ़े : पुलिस ने की 20 लीटर अवैध हाथ भट्टी शराब जब्त

श्री चौहान ने कहा कि प्रभु श्रीराम ने समरसता का संदेश नहीं अपितु जन-जन को उदाहरण देने के लिए स्वयं ने ही शुरुआत कर उस कार्य को पूर्ण समरस समाज का निर्माण किया।प्रभु श्री राम स्वयं राजा दशरथ के पुत्र थे एवं राजा जनक उनके ससुर से जिनकी असंख्य की सेनाएं थी। राम जी चाहते तो स्वयं ही राक्षस राज रावण का संवार कर सकते थे पर उन्होंने समाज की शक्ति को खड़ा किया ताकि जब भी समाज पर किसी प्रकार की विपदा आए तो समाज स्वयं ही सशक्त बन कर उसका सामना कर सके। 

श्री चौहान ने कहा कि गांव- गांव शहर -शहर में हिंदू समाज ने सी ए ए  का समर्थन किया। वहीं दूसरी कोरोना काल की रुकावट के चलते भारी समस्या का सामना समाज को करना पड़ा  श्रीचौहान ने आगे कहा कि. विजयादशमी उत्सव याने का विजय विशु प्रवृत्ति हमारे अंदर होना चाहिए जो हमेशा संघर्ष करने की प्रेरणा देती है। श्री चौहान के कहा कि जहाँ से संस्कृति के अभाव व भय में यूनान,मिस्र रोम, अफगान सब मिट गए। 

नगरवासियों ने जगह जगह स्वयंसेवको का किया पुष्पवर्षा कर स्वागत

विजयदशमी में उपलक्ष्य में निकले पथ संचलन के लिए प्रातः 8 बजे से कृषि उपज मंडी प्रांगण में स्वयंसेवको का एकत्रीकरण होना प्रारंभ हुआ। ध्वजारोहण,अमृत वचन,गीत के पश्चात अतिथि परिचय हुआ एवं बौद्धिक के पश्चात पथ संचलन कृषि उपज मंडी से प्रारंभ होकर सारंगपुर रोड (वीर सावरकर मोहल्ला),बस स्टैंड, शुजालपुर रोड़, कंगन बाजार चौराहा,

भगत सिंह मोहल्ला, टप्पा चौराहा, हनुमान मंदिर चौराहा, वेध गली (शिवाजी मोहल्ला), सुंदरसी रोड, जाटपुरा,बोलाई रोड (विवेकानंद मोहल्ला), झंडा चौक, सब्जी बाजार (शिवाजी मोहल्ला), झीन कालोनी, गली क्रमांक 1, 2, 3 (भगतसिंह मोहल्ला ) होते हुए पथ संचलन पुनः कृषि उपज मंडी मे पहुंचा। लोगो ने पथ संचलन में निकले 222 स्वयंसेवकों का कदम कदम पर पुष्प वर्षा से अभूतपूर्व स्वागत किया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: