खरगोन पुलिस द्वारा अंधे कत्ल का पर्दाफाश।

युवक की हत्या कर लाश को खेत के पास फेंकी। 

आरोपी द्वारा पत्नि के साथ मृतक के अवैध संबंध की शंका होने से की हत्या ।

दिलीप पंचोली दैनिक चिरंतन खरगोन,

दिनांक 10,अक्टूबर 2021 को थाना बिस्टान पर सूचना प्राप्त हुई की ग्राम जगन्नाथपुरा मे शोभाराम भील के खेत के पास एक अज्ञात व्यक्ति की मृत अवस्था मे पडा हुआ है। सूचना प्राप्त होते ही थाना बिस्टान से पुलिस टीम घटनास्थल पर रवाना हुई।अज्ञात मृतक की पहचान धन्नालाल पिता मांगीलाल तडवी जाति भील उम्र 28 वर्ष निवासी ग्राम जगन्नाथपुरा के रुप मे हुई।

इसे भी पढ़े : सूने मकान में चोरी, आभूषण और लेपटॉप ले उडे़

सूचनाकर्ता मुन्ना की रिपोर्ट पर थाना बिस्टान पर मर्ग क्रमांक 71/2021 पंजीबद्ध कर जांच मे लिया गया।घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक खरगोन श्री सिद्धार्थ चौधरी के निर्देशन में अति.पुलिस अधीक्षक खरगोन श्री जितेन्द्रसिंह पंवार (ग्रामीण),अति,पुलिस अधीक्षक खरगोन (शहर)डॉ,नीरज चौरसिया एवं अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) श्री अजय दुबे के मार्गदर्शन मे पुलिस टीम का गठन कर मर्ग जांच मे लगाया गया। 

विस्तृत मर्ग जॉच में पाया गया कि,साक्षी मुन्ना भील,मांगीलाल भील, सुरली बाई भील एवं खुमसिग वास्कले तथा शोभाराम भील के कथन अनुसार मृतक धन्नालाल दिनाँक 06 अक्टूबर 21 को अनसिंह पिता चमारिया के घर जाने का बोलकर निकला था। अनसिंह का धन्नालाल पर अपनी पत्नि के साथ अवैध संबंध होने की शंका करता था। पुलिस टीम द्वारा साक्षियों के कथन,घटनास्थल का निरीक्षण एवं प्राप्त भोतिक साक्ष्यो के आधार पर अनसिग पिता चमारिया को थाने पर लाया गया ।

पूछताछ के दौरान अनसिंग पिता चमारिया ने धन्नालाल पर अपनी पत्नि के साथ गलत संबंध होने की शंका के चलते सिर में चोट पहुँचा कर हत्या करके मृतक को शोभाराम के खेत के पास फेकना स्वीकार किया। उक्त मर्ग जांच से आरोपी अनसिग पिता चमारिया के विरुद्ध थाना बिस्टान पर अपराध क्र 371/21 धारा 302 भदवि.का पंजीबद्ध कर आरोपी को गिरफ्तार किया जाकर माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया गया।

उक्त प्रकरण मे आरोपी को गिरफ्तार करने मे थाना प्रभारी उप निरिक्षक पप्पु मोर्य,उप निरिक्षक अमित पंवार,प्र.आर.244 अमजद खान, का.प्र.आर.762 मस्कुर खान, आर.336 दुलेसिंह,822 भारत सोलंकी,सैनिक 98 डोंगरसिंह अन्य थाना स्टाफ एवं पुलिस अधीक्षक कार्यालय खरगोन से आरक्षक 275 अभिलाष डोंगरे की भूमिका सराहनीय रही ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: