सरकार के खिलाफ अतिथि शिक्षकों ने खोला मोर्चा,

20 अक्टूबर को उज्जैन में होगा आंदोलन

उज्जैन। सरकार की नीतियों से नाराज अतिथि शिक्षक संघ एवं अंगनवाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका संघ जिला उज्जैन द्वारा 20 अक्टूबर को चरक भवन के सामने सामाजिक न्याय परिसर पर धरना आंदोलन किया जावेगा। सिटी प्रेस क्लब पर पत्रकार वार्ता में प्रदेश कार्य समिति सदस्य अतिथि शिक्षक संघ तूफान शर्मा व मध्यप्रदेश आगनवाड़ी सहायिका संघ की जिला अध्यक्ष उन्नती तोमर ने संयुक्त रूप से बताया कि शिक्षक पात्रता परीक्षा 2018 मध्यप्रदेश राजपत्र 30 जुलाई 2018 के अनुसार विज्ञप्ति जारी हुई थी,जो कि मध्य प्रदेश के बेरोजगार युवकों को रोजगार देने की मन्शा से विज्ञप्ति जारी की गई थी |

इसे भी पढ़े :पुलिस ने की 20 लीटर अवैध हाथ भट्टी शराब जब्त

परंतु पक्ष और विपक्ष के बीच में झूलती हुई शिक्षक पात्रता परीक्षा में परीक्षा पूर्ण होने के उपरांत प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा अनेकों बार नियमावली में छेड़खानी करते हुए ऐसे नियम बना दिए कि मध्य प्रदेश के विगत 15 वर्षों से कार्यरत अतिथि  शिक्षकों को कार्यमुक्त करके मध्य प्रदेश से बाहर के 50% से 60 %अभ्यर्थियों का चयन शिक्षक भर्ती में कर लिया गया ।12 मई 2017 आयु संबंधित सामान्य प्रशासन के नियम को आधार मानकर शिक्षक पात्रता परीक्षा ली गई थी, परंतु परीक्षा अवधि पूर्ण होने के बाद जुलाई 2019 को आयु संबंधित संशोधन किस आंदोलन की मांग पर किया गया या किस विधायक महोदय के विधानसभा प्रश्न को आधार बनाकर किया गया | यह असंवैधानिक कार्य निश्चित ही व्यापम घोटाले से बड़े घोटाले की ओर संकेत करता है |

अतः शासन प्रशासन से शोषितपीडित मध्य प्रदेश का अतिथि शिक्षक आग्रह एवं निवेदन करता है कि उपरोक्त विषय पर विशेष चिंतन कर हमारे भविष्य को सुरक्षित करें अन्यथा 20अक्टूबर बुधवार  को सभी संगठनों को लेकर संयुक्त रुप से सामाजिक न्याय परिसर चरक भवन के सामने उज्जैन में अनिश्चितकालीन धरना देने के लिए विवश होंगे |वहीं उन्नती तोमर ने कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा मौखिक देकर हमे प्रताड़ित किया जा रहा है ।हमे आंगनवाड़ी के अलावा खादय विभाग, बीएलओ,कोरोना सर्वे,वेक्सिनेशन मेंड्यूटी सहित अन्य विभागो के कार्य पर महिला कर्मचारियों को काम पर लगा दिया जाता है।हम सिर्फ महिला बाल विकास में कार्य करेंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: