तेज बारिश से छाया सोयाबीन पर संकट, खले में पड़ी फसल दागी होने की संभावना

– दोपहर बाद बरस पड़े बदरा।

– खेत में पड़ी सोयाबीन फसल में नुकसान का अंदेशा।

शाजापुर। आसमान पर छाई काली घटाओं ने तेज बूंदों से बरस कर शहर को तरबतर कर दिया और इसीके साथ सर्द हवाएं सरसराने लगीं। वहीं सोयाबीन फसल में नुकसान का अंदेशा बढ़ गया है। रविवार सुबह की शुरूआत तेज धूप के साथ हुई, लेकिन दोपहर बाद काली घटाओं ने आसमान पर अपना डेरा जमा लिया और यह काले बदरा 3 बजे तेज बूंदों के साथ बरस पड़े। बादलों के बरसने का सिलसिला शाम तक तक रूक-रूककर जारी रहा।

मौसम विशेषज्ञ सत्येंद्र धनोतिया ने बताया कि आगामी दिनों में भी बारिश की संभावना बनी हुई है जिसके बाद मौसम बेहद सर्द होने की संभावना है। गौरतलब है कि आसमान से बादलों के बरसने का सिलसिला शुरू हो गया है और इस बारिश ने एक बार फिर किसानों के लिए भी आर्थिक संकट खड़ा कर दिया है, क्योंकि इन दिनों सोयाबीन की फसल पूरी तरह से पक कर तैयार हो चुकी है और कुछ किसानों ने फसल की कटाई कर खेत में उसे सूखने के लिए पटक रखा है।

इसे भी पढ़े : देशी कट्टे से फायर करनेवाले का नही लगा सुराग

ऐसे में आसमान से बरसी बूदों से सोयाबीन फसल को नुकसान का अंदेशा है। हालांकि अधिकांश किसान सोयाबीन की फसल काटकर मंडी तक पहुंचा भी चुके हैं, परंतु जिन किसानों की फसल खेत में खड़ी है, उस फसल के दागी होने की संभावना है।

ठिठुराने वाली साबित होंगी रातें

तेज बूंदों से बरसे बादलों की वजह से सर्द हवाओं का जौर बढऩे लगा है और अब जल्द ही ठिठुराने वाली ठंड की दस्तक हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार बारिश की वजह से रातें बेहद सर्द होने वाली हैं और एकाध सप्ताह में ही  न्यूनतम तापमान लुढक़ कर 5 डिग्री के इर्द-गिर्द पहुंच सकता है। याने आने वाले दिन तेज ठिठुरन से बेचैन करने वाले साबित होंगे। फिलहाल बारिश का मौसम कुछ और दिन बना रह सकता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: