महाकाल थाना शिफ्ट होगा महाराज वाडा़ स्कूल में

उज्जैन : महाकाल थाने का भी कायाकल्प होने वाला है। कुछ साल पहले ही महाकाल थाने का भवन निर्माण किया गया था। यह महाकाल मंदिर के समीप ही है लेकिन अब महाराज वाडा़ स्कूल में इस थाने को शिफ्ट करने की तैयारी चल रही है।अब सवाल यह उठता है कि जब मंदिर के पास थाना है और फरियादी को मंदिर के बाहर से आसानी से नजर आ जाता है तो फिर इसे दूसरी जगह शिफ्ट करने की कौन सी तुक है। स्मार्ट सिटी के नाम पर प्रशासन अपनी मनमानी करने पर उतारू हो गया है। क्या यह पूरे शहर का नक्शा बदल देगे।यह धार्मिक स्थल है और यहाँ कण कण मे भगवान बसते हैं। कहीं ऐसा नहीं हो कि एक दिन महाकाल मंदिर को भी दूसरी जगह शिफ्ट करने की तैयारी कर ली हो।

इसे भी पढ़े :क्या आध्यात्मिक शक्ति हरा पायेगी कोरोना को

तीन महीने पहले 147 मकान हटाकर खाली कराई बेगमबाग वाली 8673 वर्ग मीटर जमीन पर 32 करोड़ रुपये खर्च कर अंडरग्राउंड पार्किंग स्पेस, सरफेस पर वेंडर जोन बनाया जाएगा। कुछ हिस्से में लैंड स्केपिंग कर टायलेट, ड्राइवर लाउंज बनाया जाएगा। महाराजवाड़ा क्रमांक-2 स्कूल भवन को रिनावेट कर इसमें महाकाल थाना शिफ्ट किया जाएगा। यहां 10 किलोवाट क्षमता का सोलर प्लांट लगाया जाएगा। अगले सप्ताह स्मार्ट सिटी कंपनी प्राप्त निविदा का परीक्षण कर पात्र कंस्ट्रक्शन कंपनी को कार्य शुरू करने को आदेश जारी करेगी।

मालूम हो कि महाकाल मंदिर क्षेत्र विकास के लिए बनाई महाकाल-रूद्रसागर एकीकृत विकास द्रष्टिकोण परियोजना 145 करोड़ रुपये की बनी है, जिसमें कुल 6 काम होंगे। दो काम, बेगमबाग में अहिल्याबाई मार्ग से बड़ा रूद्रसागर तक स्मार्ट रोड निर्माण और मौजूदा महाकाल थाने के पास प्राचीन महाकाल प्रवेश द्वार के जीर्णोंद्धार का काम धरातल पर आकार ले चुका है। 31 दिसंबर तक ये पूर्ण होने की संभावना है।

तीसरा काम, बेगमबाग वाली जमीन पर 32 करोड़ रुपये खर्च कर अंडरग्राउंड पार्किंग स्पेस, सरफेस पर वेंडर जोन बनाने का है, जिसकी निविदा प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। अगले सप्ताह ठेकेदार तय कर कार्य आदेश जारी होने की बात स्मार्ट सिटी कंपनी ने कही है। दीपावली के बाद धरातल पर ये काम भी दिखाई देने लगेगा। परियोजना अंतर्गत पार्किंग में 220 कार और 245 बाइक खड़ी की जा सकेंगी। यहां 121 पक्की दुकानें, 160 ओटले बनाए जाएंगे, जहां से श्रद्धालु हार-फूल, प्रसादी, पूजन सामग्री आदि खरीद पाएंगे।

इस क्षेत्र का जुड़ाव अहिल्याबाई मार्ग से जुड़े दो रास्तों से होगा। एक निर्माणाधीन स्मार्ट रोड से, दूसरा महाराजवाड़ा क्रमांक 2 स्कूल पहुंच वाले 5 मीटर चौड़े मार्ग से। अफसरों का कहना है कि ये मार्ग भी 12 चौड़ा किए जाना है। जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई प्रक्रिया में है। 145 करोड़ की मृदा पार्ट-2 परियोजना में फ्रांस गर्वमेंट की एएफडी बैंक से 80 करोड़ रुपये की वित्तीय मदद मिल रही है। इसकी स्वीकृत हो चुकी है। शेष पैसा शासन से मिलना है।  

Leave a Reply

%d bloggers like this: