कर्जदारो से परेशान हो कर गया था इंदौर युवक की हत्या के तार उज्जैन से जुडे़, दो हिरासत में

युवक की हत्या उस समय अज्ञात बदमाशों ने आंखों में मिर्ची डालकर कर दी, जब वह अपनी पत्नी को बस में बैठाकर वापस लौट रहा था।

बदमाशों ने चाकूओं से उस पर हमला कर दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

उज्जैन।उज्जैन के रहने वाले एक युवक की हत्या उस समय अज्ञात बदमाशों ने आंखों में मिर्ची डालकर कर दी, जब वह अपनी पत्नी को बस में बैठाकर वापस लौट रहा था। हत्या के तार उज्जैन से जुड़ने की बात सामने आई है। कर्ज को लेकर इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया है। पुलिस ने उज्जैन के दो युवकों को हिरासत में लिया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है।

इसे भी पढ़े : पता पूछने के के बहाने दिन दहाड़े कालेज प्रोफेसर की चेन छपटी

बाणगंगा के वाल्मिकी नगर में रहने वाला आकाश पिता यशवंत मिड़किया अपनी पत्नी वर्तिका को देवास जाने वाली बस में बैठाकर वापस लौट रहा था, तब बाणगंगा थाना क्षेत्र में स्थित भागीरथपुरा इलाके के पोलो ग्राउंड बिजली कंपनी के ऑफिस के पास अज्ञात बदमाशों ने आकाश को रोका और उसकी आंखों में मिर्ची झोंक दी, वह कुछ समय पाता इससे पहले ही बदमाशों ने चाकूओं से उस पर हमला कर दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

सूचना मिलते ही भागीरथपुरा और परदेशीपुरा पुलिस मौके पर पहुंची।बताया जाता है कि मृतक आकाश की पत्नी वर्तिका देवास के अमलतास अस्पताल में एचआर का कार्य करती है, जिसे वह प्रतिदिन छोड़ने के लिए बस स्टैंड तक जाता था। संभवना जताई जा रही है कि बदमाशों को पूरी जानकारी थी कि वह कब अपनी पत्नी को छोड़ने जाता है। किस रास्ते से जाता है और किस रास्ते से आता है, यहीं कारण है कि बदमाशों ने वारदात को पूरी योजना के साथ अंजाम दिया।

बताया जाता है कि मृतक आकाश इंदौर में रहकर शेयर मार्केंट का काम करता था। शेयर मार्केट का काम करने वाले आकाश के मोबाइल से ऐसी कई रिकॉर्डिंग पुलिस को मिली हैं, जिनमें लेन-देन का जिक्र है। पत्नी ने पुलिस को बताया कि घटना के 5 मिनट पहले ही पति से उसकी बात हुई थी। उनसे मामा का नंबर लिया था और कहां था कि उनका बर्थडे है, हम उन्हें बधाई तो दे दें।

इसे भी पढ़े : विवादीत टिप्पणी करने वाले उपयत्री यादव के खिलाफ युवा मोर्चा ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन

बताया जाता है कि मृतक आकाश उज्जैन के फाजलपुरा क्षेत्र का रहने वाला था, यहां रहने के दौरान उस पर 15 लाख का कर्ज हो गया था, जिससे परेशान होकर वह अपनी पत्नी के साथ लगभग डेढ़ साल पहले इंदौर रहने चला गया था और वहां पर शेयर मार्केंट कारोबारी का काम करने लगा था। सूत्रों की माने तो उज्जैन में उस पर लगभग 15 लाख रूपए का कर्ज था, जिसे लेकर कर्जदार उसे काफी परेशान करने लगे थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: