विधिक साक्षरता शिविर का हुआ आयोजन

मोड़ी/सुसनेर। अमृत महोत्सव के तहत दर्शन सागर दिगम्बर जैन मंदिर में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। जिसमे न्यायाधीश अनुरागसिंह सुमन द्वारा विद्यार्थियों को मेडिटेशन अवरनेस के बारे में बताया गया कि किस प्रकार से हमें इस भाग दौड़ भरी ज़िन्दगी में हम किस प्रकार से मेडिटेशन कर सकते है।

यह भीतर की अनुभूति, भावना और बुद्धि का संयोजन है अंतर्नाथ, अंतर्ज्ञान है एवं उन्होंने आगे बताया कि हमे न्याय प्रणाली को समझना चाहिए। जिससे हम अपराध को कम कर सके।

इसे भी पढ़े : मारपीट करने वाले आरोपीगण को कठोर कारावास

वहीं पेरालिगल वालेंटियर के रूप में नितेश शर्मा ने मानवाधिकार आयोग 1993 के बारे में बताया गया कि हमें मानव होने के नाते जो हमारे सर्वांगीण विकास के लिए आवश्यक है हमें उनके बारे में जानना चाहिए। जो हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है।

वहीं एडवोकेट दशरथसिंह द्वारा विद्यार्थियों को पास्को एक्त के बारे में बताया गया कि हम किस प्रकार से न्यायालय कि मदद से अपराधी को  सजा दिला सकते है। इस अवसर पर न्यायालय साईबर सर्वर कंप्यूटर ऑफिसर अजय कुंभकार, नायब नजर संजय जैन आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: