अवैध रेत उत्खनन को लेकर ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर को दिया ज्ञापन।

महेश्वर क्षेत्र में रेत के अवैध खनन एवं ठेकेदार कि दबंगई के खिलाफ ग्रामीण हुए लामबंद।

दिलीप पंचोली दैनिक चिरंतन खरगोन,

जिले कि महेश्वर तहसील अन्तर्गत ग्राम सेजगाँव, पाड्या घाटखेड़ी, पिटामली, बेहगांव, सुलगांव के ग्रमीणों द्वारा मंगलवार को जिला कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा ग्रामीणों ने कहा कि रेती के ठेकेदार आर के,गुप्ता कंट्रक्शन द्वारा अवैध रेत खनन किया जा रहा है। उत्खनन स्वीकृत रकबो मे ना होने के कारण राजस्व रॉयल्टी नहीं होनें के बावजूद निजी स्वामित्व की भूमियो से रेत माफिया द्वारा जमीन मालिकों को बहला-फुसलाकर पैसों की लालच देकर उत्खनन जोरों से किया जा रहा है।

इसे भी पढ़े : गरबा देखकर लौट रही नाबालिग से कुकर्म

वहीं रॉयल्टी नाको से ओवरलोड ट्रैक्टर एवं डंपरो से टोकन के नाम पर बाहरी स्टाफ द्वारा ठेकेदार अवैध वसूली करवा रहा है। डंपर और ट्रैक्टर की रॉयल्टी मांगने पर सीता महु स्टॉक की रॉयल्टी थमा दी जाती हैl जहां 16 घन मीटर की जगह 9 घन मीटर की दी जाती है। ग्राम सेजगाँव,पाडया गाट खेड़ी,पिटामली,बेहगांव,सुलगाव के रकबो की रॉयल्टी जून 2021 से शासन द्वारा स्वीकृति नहीं दी गई है। उसके बावजूद ठेकेदार द्वारा बाहरी लोगों को लाकर अवैध वसूली की जा रही है।

ग्रामीणों द्वारा आरोप लगाया गया है। कि ठेकेदार बाहरी व्यक्तियों द्वारा मारपीट करने और जान से मारने की धमकी दी जा रही है। पिछले वर्ष भी ठेकेदार द्वारा मारपीट जैसी वारदातें करवा चुका है। ग्रामीणों द्वारा अवगत कराया गया। नवंबर 2011 में प्राणघातक हमले में हुए 2014 मे रामरतन पिता मानसिंह की जान चली गई थी। तथा अन्य व्यक्ति बुरी तरह से घायल हुए थे। वहीं 2019 में हुई घटना शासन द्वारा कानूनी कार्रवाई में धारा 307 302 एवं एससी एसटी एक्ट्रो सिटी एक्ट मैं मामले दर्ज हुए थे।

इसे भी पढ़े : फेसबुक पर दोस्ती, प्रेम परवान चढ़ा तो दोनों आ गए उज्जैन

वर्तमान में ठेकेदार द्वारा धमकाया जा रहा है। कि मेरे पास बाहरी लोगों का स्टाफ है जिनके नहीं नाम पते हैं विरोध किया तो मरवा डालूंगा ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर को ज्ञापन के माध्यम से निवेदन किया है कि ठेकेदारों के आदमियों की जानकारी थाने में दी जाए जिससे इन पर अंकुश लगाने के साथ ही हों रहें अवैध उत्खनन को लेकर कड़ी कार्रवाई कि जाएं। ज्ञापन के समय विजय सिंह कैलाश यादव,विनोद ठाकुर,बलिराम सूरज,मुकेश मोहन वर्मा, मुकेश वर्मा,हरिओम उमेदसिंह चंदेल, सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: