कई पौधों को ऑक्सीजन फैक्ट्री भी कहा जा सकता है- सांकेतिक फोटो (pixabay)

Live Radio


देश फिलहाल कोरोना महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहा है कि इसी बीच तीसरी लहर की आशंका भी सामने आने लगी. ऐसे में लोग वैक्सिनेशन के अलावा अपनी इम्युनिटी मजबूत (how to boost immunity naturally) करने और सेहतमंद रहने के लिए कई तरीके अपना रहे हैं. इन्हीं में से एक है, घर में ऐसे पौधे लगाना, जिनसे ऑक्सीजन (Oxygen plants) मिले. बता दें कि कोविड-19 के मरीजों में कुछ सबसे गंभीर समस्याओं में से एक है शरीर में ऑक्सीजन की कमी होना. ऐसे में कई विशेषज्ञ इस तरह के इनडोर पौधों का जिक्र कर रहे हैं. क्यों जरूरी है घर पर पर पौधे होना  घर के भीतर कई तरह के परागण, धूल और यहां तक कि अच्छे से अच्छा पेंट भी वायु की गुणवत्ता पर असर डालते हैं. ऐसे में घर के भीतर ऐसे पौधे लगाना बढ़िया विकल्प है, जो एयर प्यूरिफायर की तरह काम करते हुए ऑक्सीजन का स्तर बनाए रखते हैं. इस बारे में टाइम्स ऑफ इंडिया ने कृषि मंत्रालय के हॉर्टिकल्चर साइंस के प्रमुख आनंद कुमार सिंह से बात की ताकि ऐसे पौधों के बारे में समझा जा सके. वे बताते हैं कि ऐसे कई पौधे हैं जो घर पर लगाए जाने पर हवा में मिलकर नुकसान देने वाले तत्वों को हटा देते हैं.

ध्यान रखें कि पौधों में किसी तरह की कोई बीमारी या फंगल संक्रमण न हो- सांकेतिक फोटो (pixabay)

ऐसे पौधों को ऑक्सीजन फैक्ट्री भी कहा जा सकता है. ये हवा को शुद्ध करने के साथ ही मानसिक तनाव को कम करने में भी मददगार हैं. यानी कोरोना के समय में ये पौधे सबसे बढ़िया काम कर सकते हैं. पौधे चुनते हुए रखें ये ध्यान हमें पौधे चुनते हुए इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि ऐसे पौधे लें जो तेजी से बढ़ते हों. ये पौधे ज्यादा से ज्यादा कार्बन डाइऑक्साइड कंज्यूम करते हैं यानी ज्यादा ऑक्सीजन छोड़ते हैं. साथ ही इन्हें मौसम के मुताबिक चुना जाना चाहिए. इसके अलावा इस बात का खास ध्यान रखें कि पौधों में किसी तरह की कोई बीमारी या फंगल संक्रमण न हो. कोरोना के दौर में ब्लैक फंगस जैसी बीमारी तेजी से फैल रही है, ऐसे में स्वस्थ पौधे लेना और उन्हें स्वस्थ बनाए रखना ही सही है.
ये भी पढ़ें: Explained: किन बीमारियों में हम खो बैठते हैं सूंघने और स्वाद की ताकत? विषैले तत्वों को सोख ऑक्सीजन बढ़ाता है ये रबर प्लांट लगा सकते हैं, जिसे फाइकस रोबस्टा भी कहा जाता है. घर में कहीं भी खुली जगह नहीं या फिर दफ्तर में अपने क्यूबिकल में लगाना चाहें तो रबर प्लांट लगा सकते हैं. देखने में काफी सुंदर और कम जगह घेरने वाला ये पौधा जितना कम रखरखाव मांगता है, उससे कहीं ज्यादा फायदेमंद है. इसमें लकड़ी के फर्नीचर और पेंट से निकलने वाले विषैले तत्वों के साथ-साथ बेंजीन को भी खुद में सोख लेने की खूबी है.

plants help boost oxygen level amid coronavirus

पौधे हवा को शुद्ध करने के साथ ही मानसिक तनाव को कम करने में भी मददगार हैं- सांकेतिक फोटो (pixabay)

हवा की अशुद्धियां दूर करता है ये पौधा  एलोवेरा एक बेहतरीन इनडोर प्लांट है जिसे फलने-फूलने के लिए सूरज की रोशनी की खास जरूरत नहीं. औषधीय गुणों के अलावा इसमें हवा को शुद्ध करने की खूबी भी होती है. ये हवा की अशुद्धियों जैसे फार्मल्डिहाइड यानी मेथेनैल और बेंजीन को दूर करता है. कार्बन मोनो ऑक्साइड जैसे बेहद जहरीले तत्व को भी हटाकर हवा को शुद्ध रखता है. ये घर के बच्चों से लेकर पालतू पशुओं के लिहाज से भी पूरी तरह से सुरक्षित है. ये भी पढ़ें: Explained: क्या है Black Fungus का कोरोना मरीजों की दी जा रही ऑक्सीजन से संबंध? लगभग पूरा दिन ऑक्सीजन देता है ये  तुलसी के औषधीय गुण तो सभी जानते हैं लेकिन तुलसी पर्यावरण शुद्ध रखने का भी काम करती है. घर के भीतर थोड़ी धूपदार जगह पर तुलसी लगाई जा सकती है और इसे हर 2 से 3 दिन में पानी की भी जरूरत पड़ती है, लिहाजा इसे बालकनी या किसी अपेक्षाकृत खुली जगह पर लगाएं. तुलसी दिन के लगभग 20 घंटों तक ऑक्सीजन देती है, साथ ही ये वायु से जहरीले तत्वों जैसे कार्बन डाईऑक्साइड और सल्फर डाईऑक्साइड को अवशोषित कर लेती है. साल 1987 में तो एक अभियान भी चला था- तुलसी लगाओ, प्रदूषण भगाओ. स्पाइडर प्लांट है काफी काम का  स्पाइडर प्लांट लगभग नहीं के बराबर देखरेख मांगता है और काफी फायदेमंद है. इसमें वायु की अशुद्धियां दूर करने की खूबी होती है. ये जाइलीन, बेंजीन, फार्मल्डिहाइड और कार्बन मोनो ऑक्साइड जैसे विषैले तत्वों को हवा से छानता है और आपके आसपास एक सुरक्षा कवच बना देता है. ये देखने में भी बेहद खूबसूरत होता है.



Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 Tracker