DA Image

Live Radio


माउंट एवरेस्ट पर  कम से कम 100 पर्वतारोही और सहायक कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। एक विशेषज्ञ पर्वतारोहण गाइड शनिवार को यह दावा किया। हालांकि आधिकारिक रूप से नेपाल ने माउंट एवरेस्ट पर किसी भी कोरोना मामले के होने से इनकार किया है।

ऑस्ट्रिया के लुकास फुरटेनबैक ने पिछले हफ्ते वायरस के डर से अपने एवरेस्ट अभियान को रोक दिया था। ऐसा करने वाले वह एकमात्र प्रमुख संगठन बन गए थे। उन्होंने शनिवार को कहा कि उनके एक विदेशी गाइड और छह नेपाली शेरपा गाइड ने कोरोना जांच में पॉजिटिव पाए गए हैं।

फर्टेनबैक ने नेपाल की राजधानी में एसोसिएटेड प्रेस को बताया, “मुझे लगता है कि सभी पुष्ट मामले जिनके बारे में हम जानते हैं – (बचाव) पायलटों से, बीमा से, डॉक्टरों से, अभियान के नेताओं से पुष्टि हुई है – मेरे पास पॉजिटिव जांच रिपोर्ट  हैं इसलिए हम इसे साबित कर सकते हैं।”

उन्होंने कहा कि हमारे पास बेस कैंप में कम से कम 100  लोग कोरोना से संक्रमित  हैं, और यह संख्या 150 या 200 जैसी भी हो सकती है। उन्होंने कहा कि यह स्पष्ट है कि एवरेस्ट आधार शिविर में कई कोरोना मामले हैं क्योंकि वह देख सकते थे कि लोग बीमार थे और लोगों को अपने तंबू में खांसते हुए भी सुन सकते थे।

इस सीजन में एवरेस्ट पर चढ़ने के लिए कुल 408 विदेशी पर्वतारोहियों को परमिट जारी किया गया था, जिसमें कई सौ शेरपा गाइड सहयोगी कर्मचारी थे, जो अप्रैल से बेस कैंप में तैनात हैं।

नेपाली पर्वतारोहण अधिकारियों ने देश के हिमालयी पहाड़ों के लिए सभी आधार शिविरों में पर्वतारोहियों और सहायक कर्मचारियों के बीच इस मौसम में कोई सक्रिय मामले होने से इनकार किया है। पिछले साल महामारी के कारण पर्वतारोहण बंद कर दिया गया था।



Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 Tracker