6 लोगों को सैनिटाइजर के जरिए शराब बनाने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है.(सांकेतिक तस्वीर)

Live Radio


6 लोगों को सैनिटाइजर के जरिए शराब बनाने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है.(सांकेतिक तस्वीर)

Tamilnadu Lockdown: तमिलनाडु की शासकीय शराब दुकानें TASMACS लॉकडाउन की वजह से बंद हैं. यहां राज्य सरकार ने कुछ दिनों पहले दो हफ्ते के लिए लॉकडाउन और बढ़ा दिया था.

चेन्नई. बीते साल राजधानी दिल्ली (Delhi) में लॉकडाउन (Lockdown) में ढील मिलने के बाद शराब (Liquor) के लिए लंबी-लंबी कतारों की तस्वीरें वायरल हुई थीं. शराब के शौकीनों का नशे की तलब को पूरा करने के लिए किसी भी हद तक जाना नया नहीं है. कई बार वे अपनी ही जान को जोखिम में डालकर शराब की जरूरत को पूरा करते हैं. ऐसा ही एक मामला तमिलनाडु से आया है. यहां 6 लोगों को सैनिटाइजर (Sanitiser) के जरिए शराब बनाने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है. मामला तमिलनाडु के कुड्डलोर जिले का बताया जा रहा है. यहां बीते बुधवार को पुलिस ने कार्रवाई कर कम से कम 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. आरोप है कि ये सभी सैनिटाइजर से शराब बना रहे थे. दरअसल, पुलिस को पता लगा था कि लोग इस तरह शराब तैयार कर रहे हैं. बाद में स्वास्थ्य विभाग ने भी घोषणा कर दी थी कि इसे बनाने में सैनिटाइजर का इस्तेमाल किया गया है. इंडिया टुडे के मुताबिक, यह मामला रानमाथन कुप्पम जिले का है. तमिलनाडु की शासकीय शराब दुकानें TASMACS लॉकडाउन की वजह से बंद हैं. यहां राज्य सरकार ने कुछ दिनों पहले दो हफ्ते के लिए लॉकडाउन और बढ़ा दिया था. राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर 24 मई तक पांबंदियों को बढ़ा दिया गया है. राज्य के कम से कम 16 जिलों में 20 फीसदी से ज्यादा पॉजिटिविटी रेट दर्ज किया गया है. यह भी पढ़ें: भोपाल में शराब नहीं मिलने पर 3 भाइयों ने पिया सैनिटाइजर, मौतहालांकि, यह पहली बार नहीं है जब ऐसा मामला सामने आया है, जहां लोगों ने शराब की कमी के चलते सैनिटाइजर पिया हो. बीते साल तमिलनाडु में ही 35 साल के एक व्यक्ति की हैंड सैनिटाइजर पीने की वजह से मौत हो गई थी. इस साल मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से भी इसी तरह की खबर सामने आई थी. यहां तीन भाइयों की तीन लीटर सैनिटाइजर पीने की वजह से मौत हो गई थी. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अुसार, तीनों मृतकों का नाम पर्वत अहिरवार, राम प्रसाद और भूरा अहिरवार था.

बताया जा रहा है कि ये तीनों शादीशुदा थे, लेकिन अपने परिवारों से दूर रहते थे. पेशे से प्रसाद पेंटर था और जहांगीराबाद की रविदास कॉलोनी में रहता था. वहीं, दो अन्य मजदूर थे और कई बार एमपी नगर के फुटपाथ पर सो जाया करते थे. लॉकडाउन के दौरान सैनिटाइजर पीने के चलते मौत के कई मामले सामने आए हैं.







Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 Tracker