ऋद्धिमान साहा कोरोना को मात दे चुके हैं

Live Radio


ऋद्धिमान साहा कोरोना को मात दे चुके हैं

भारतीय विकेटकीपर-बल्‍लेबाज ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) अगले महीने इंग्‍लैंड दौरे पर जाने वाली भारतीय टीम का हिस्‍सा हैं, वह 24 मार्च तक मुंबई में टीम के बायो बबल में एंट्री करेंगे.

नई दिल्‍ली. भारतीय विकेटकीपर बल्‍लेबाज ऋद्धिमान साहा ((Wriddhiman Saha) ) ने कोरोना से तो जंग जीत ली, मगर उनका क्‍वारंटीन समय खत्‍म होने में अभी वक्‍त लगेगा. साहा काफी लंबे समय से क्‍वारंटीन में रह रहे हैं. उनका यह समय पिछले साल आईपीएल शुरू होने से पहले शुरू हुआ था और अब सितंबर से पहले इंग्‍लैंड में खत्‍म हो सकता है. दरअसल भारतीय टीम अगले महीने न्‍यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप का फाइनल खेलने और मेजबान के खिलाफ पांच टेस्‍ट मैचों की सीरीज के लिए इंग्‍लैंड रवाना होगी. साहा भारतीय टीम का अहम हिस्‍सा हैं. वह 24 मार्च तक इंग्‍लैंड जाने वाली भारतीय टीम से मुंबई में जुड़ जाएंगे. इतने लंबे समय तक एक्टिव रहने के बावजूद भारतीय टीम और आईपीएल में नियमित न होने पर 36 साल के साहा ने अपनी दिल की बात कही. इंडियन एक्‍सप्रेस से बात करते हुए साहा ने नियमित रूप से मैच न मिलने पर कहा कि सबसे पहले तो जब एमएस धोनी टीम में थे, तो वह टीम में नियमित नहीं थे. वह नहीं खेले. 2014 के आखिर से 2018 के बीच वह खेले. इसके बाद वह चोटिल हो गए थे. ऐसे में दिनेश कार्तिक, पार्थिव पटेल और ऋषभ पंत भारत के लिए खेले. पंत अपनी क्षमता के दम पर अपनी जगह पक्‍की करने में सफल रहे. उन्‍होंने मौके को भुनाया. अब वह अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं. 2014 से पहले खेले थे महज 2 टेस्‍ट साहा ने 6 फरवरी 2010 को साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्‍ट क्रिकेट में डेब्‍यू किया था. इसके बाद उन्‍होंने अपना दूसरा मैच जनवरी 2012 में खेला और फिर 9 दिसंबर 2014 को ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ उन्‍होंने अपने टेस्‍ट करियर का तीसरा मैच खेला था. इसके बाद से ही साहा को टेस्‍ट क्रिकेट में मौके मिलने लगे.  साहा ने जब पूछा गया कि उनकी क्षमता के लिए खिलाड़ी के लिए यह निराशजनक नहीं है तो उन्‍होंने इस सवाल के जवाब में कहा कि हर खिलाड़ी को उतार चढ़ाव का सामना करना पड़ता है. चोट कभी भी लग सकती है.यह भी पढ़ें :  मोहम्मद यूसुफ बोले-विराट कोहली और रोहित शर्मा से सीखें पाकिस्तानी बल्लेबाज आजम डैरेन स्टीवंस ने 9वें विकेट के लिए की 166 रनों की साझेदारी, साथी कमिंस ने बनाए सिर्फ 1 रन
भुवनेश्‍वर कुमार का ही उदाहरण ले लो. चोटिल होने से पहले वह भारत के लिए सभी फॉर्मेट में खेले. मगर अब चोट ने उनके खेल समय को प्रभावित हुआ. यह सब खेल का हिस्‍सा है. कुछ ऐसी भी खबरें आ रही थी कि टीम मैनेजमेंट ने साहा से कहा कि इंग्‍लैंड दौरे पर वह पंत के लिए बैकअप होंगे. इस पर सफाई देते हुए साहा ने कहा कि टीम मैनेजमेंट के साथ उनकी ऐसी कोई भी चर्चा नहीं हुई. ऐसा तब भी नहीं हुआ, जब धोनी थे. उनके जाने के बाद भी नहीं हुआ और अब भी नहीं.







Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 Tracker