Varanasi: अपनी बेटी की मौत के बाद पद्म विभूषण पंडित छन्नू लाल मिश्र इंसाफ की लगा रहे गुहार

Live Radio


Varanasi: अपनी बेटी की मौत के बाद पद्म विभूषण पंडित छन्नू लाल मिश्र इंसाफ की लगा रहे गुहार

Varanasi News: पद्म विभूषण पंडित छन्नू लाल मिश्र ने कहा कि मेडविन हॉस्पिटल के मालिक ने कहा था कि उनकी बेटी के तबियत में सुधार हो रहा है लेकिन अचानक ऐसा क्या हुआ कि उसकी मौत हो गई. सच्चाई जानने के लिए हम सीसीटीवी फुटेज की मांग कर रहे हैं. जांच के भी 20 दिन हो गए लेकिन रिपोर्ट अब तक नहीं आई. अब मैं पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ से भी अपनी शिकायत करूंगा.

वाराणसी. 2014 के लोकसभा चुनाव (Loksabha Election) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) वाराणसी (Varanasi) से चुनाव लड़ें और जीत हासिल कर यहां के सांसद बने. इस दौरान पीएम मोदी के पांच प्रस्तावक रहें, जिनमें एक नाम पद्म विभूषण पंडित छन्नू लाल मिश्र (Padma Vibhushan Pandit Chhannulal Mishra) का भी नाम शामिल है. बनारस घराने से शास्त्रीय संगीत के सम्राट और पीएम मोदी के प्रस्तावक होने के बावजूद आज पंडित जी अपनी बेटी के मौत की सच्चाई जानने के लिए गुहार लगा रहे हैं. लेकिन उनका कहना है कि 20 दिन बीत जाने के बावजूद उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई है. दरअसल पंडित छन्नू लाल मिश्र की पत्नी और बेटी का कोरोना से निधन हो गया है. अप्रैल में पहले उनके पत्नी का निधन हुआ और बाद में उनकी बड़ी बेटी संगीता मिश्रा का निधन हो गया. लेकिन संगीता के निधन के बाद पंडित जी का परिवार हॉस्पिटल प्रशासन के ऊपर लापरवाही का आरोप लगा रहा है और हॉस्पिटल में उनकी बेटी के एडमिट होने के दरम्यान के सीसीटीवी फुटेज की मांग कर रहा है. ये पूरा मामला पूरा मामला वाराणसी के मैदागिन स्थित निजी हॉस्पिटल मेडविन का है. यहां पंडित जी की बड़ी बेटी संगीता कोरोना के चपेट में आने के कारण एडमिट थी. 7 दिन एडमिट होने के बाद 29 अप्रैल के मध्यरात्रि उनकी मृत्यु हो गई. घटना के बाद उनकी छोटी बेटी ने अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हॉस्पिटल में हंगामा भी किया और जिला प्रशासन से कार्रवाई की मांग की. जिसके बाद प्रशासन ने मामले में जांच कमिटी गाठित की.20 दिन बाद भी जांच रिपोर्ट नहीं आई लेकिन घटना को 20 दिन बीत गए बावजूद जांच रिपोर्ट नही आई. जिसके बाद आज पंडित जी और उनके परिवार ने मीडिया से बात करते हुए अपना दर्द बयां किया. पंडित जी ने कहा कि मेडविन हॉस्पिटल के मालिक ने कहा था कि उनकी बेटी के तबियत में सुधार हो रहा है लेकिन अचानक ऐसा क्या हुआ कि उसकी अचानक मौत हो गई. इसी की सच्चाई जानने के लिए हम सीसीटीवी फुटेज की मांग कर रहे हैं. जांच के भी 20 दिन हो गए लेकिन रिपोर्ट अब तक नहीं आई. ऐसे में अब मैं पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ से भी अपनी शिकायत करूंगा. हॉस्पिटल का ये है कहना
वहीं हॉस्पिटल के मालिक डॉ मनमोहन श्याम का कहना है कि लापरवाही किसी भी स्तर से नहीं बरती गई है. उनकी हालात पहले बिगड़ी हुई थी. ऑक्सीजन लेवल 72 था, जब वो भर्ती हुई थीं. हमने पूरी कोशिश की लेकिन उन्हें बचा नही पाएं. बता दें कि मेडविन हॉस्पिटल के ऊपर प्रशासन ने जांच बिठाई है लेकिन 20 दिन बीतने के बाद भी जांच रिपोर्ट नही आई है. ऐसे में पंडित जी के परिवार सकते में हैं और यही कारण है कि अब वो मीडिया के सामने आकर सच्चाई सामने लाने के लिए गुहार लगा रहे हैं.







Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 Tracker