Live Radio


दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज लोनवाबो सोत्सोबे(Lonwabo Tsotsobe) को 2015 में मैच फिक्सिंग का दोषी पाया गया था. उन पर 8 साल का बैन लगा था. उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के लिए 61 वनडे खेले थे. (Graeme Smith Twitter)

दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज लोनवाबो सोत्सोबे (Lonwabo Tsotsobe) ने टीम के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ (Graeme Smith) पर नस्लीय भेदभाव का सनसनीखेज आरोप लगाया है. उन्होंने क्रिकेट साउथ अफ्रीका को इस संबंध में सात पन्नों की चिठ्ठी भी लिखी है. हालांकि, स्मिथ ने सोत्सोबे के आरोपों को सीधे तौर पर खारिज कर दिया है.

नई दिल्ली. दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज लोनवाबो सोत्सोबे(Lonwabo Tsotsobe) ने टीम के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ (Graeme Smith) पर नस्लीय भेदभाव का सनसनीखेज आरोप लगाया है. सोत्सोबे ने कहा कि स्मिथ ने एबी डिविलियर्स को टीम में लाने के लिए थामी सोलेकिले का चयन नहीं होने दिया. उन्होंने आरोप लगाया कि स्मिथ विकेटकीपर बल्लेबाज सोलेकिले को टीम में चुने जाने के सख्त खिलाफ थे. अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उन्होंने इस खिलाड़ी की 2012 के इंग्लैंड दौरे के लिए टीम में एंट्री होने की सूरत में संन्यास लेने तक की धमकी दी थी. सोत्सोबे ने क्रिकेट साउथ अफ्रीका को लिखी 7 पेज की चिठ्ठी में टीम के पूर्व कप्तान पर ये गंभीर आरोप लगाए हैं. सोत्सोबे ने क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका को लिखी चिठ्ठी में कहा है कि सोलेकिले को मार्क बाउचर के बदले 2012 के इंग्लैंड दौरे के लिए चुनी गई टीम में आना था. लेकिन अचानक से डिविलियर्स को विकेटकीपर बना दिया गया जबकि वो विशेषज्ञ भी नहीं थे. उन्होंने कहा कि डिविलियर्स को विकेटकीपर इसलिए बनाया गया था. क्योंकि सोलेकिले जैसे अश्वेत खिलाड़ी का सेलेक्शन रोका जा सके. ऐसा स्मिथ के कारण से हुआ. उन्होंने तब धमकी दी थी कि अगर सोलेकिले का सेलेक्शन हुआ तो वह फौरन क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे. स्मिथ ने सोत्सोबे के आरोपों को खारिज किया इन आरोपों पर स्मिथ ने भी एक बयान जारी कर अपनी सफाई दी है. उन्होंने कहा कि मुझ पर लगाए गए आरोप बिल्कुल गलत हैं. मैं इसका खंडन करता हूं. दुर्भाग्यवश, थामी विकेटकीपर थे और वो टीम में एक ही पोजीशन के लिए संघर्ष करते. मैं समझ सकता हूं कि वो कितना निराशाजनक होगा. ऐसे कई शानदार विकेटकीपर रहे, जिन्हें दक्षिण अफ्रीका के लिए खेलने का मौका नहीं मिला. क्योंकि विकेटकीपर टीम में लंबे समय के लिए बने रहते हैं. दक्षिण अफ्रीका में ही केवल ऐसा नहीं होता, बल्कि दुनियाभर में यही ट्रेंड है.श्रीलंका दौरे के लिए शिखर धवन कप्तान, दो भाइयों की जोड़ी को भी मौका: रिपोर्ट सोत्सोबे के आरोपों पर सुनवाई टली क्रिकेट साउथ अफ्रीका के डायरेक्टर स्मिथ ने आगे कहा कि मैं टीम सेलेक्शन का जिम्मेदार नहीं था. कप्तान के रूप में अपनी राय रखता है. लेकिन खिलाड़ियों को टीम में चुने जाने के लिए कोच और सेलेक्टर्स ही वोटिंग करते थे. सोत्सोबे के आरोपों पर सार्वजनिक सुनवाई 19 मई को ही होनी थी. हालांकि, इसे अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया है. इसके अलावा, सोत्सोबे ने यह भी दावा किया है कि जब उन्हें शुरू में दक्षिण अफ्रीका का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना गया था तो वह ‘वरिष्ठ खिलाड़ियों’ के बैग ले जाते थे.
यह भी पढ़ें: टीम इंडिया श्रीलंका में अधिक मैच खेलने को तैयार, रेवेन्यू में होगी बढ़ोतरी: श्रीलंका बोर्ड सोत्सोबे ने दक्षिण अफ्रीका के लिए 61 वनडे खेले दक्षिण अफ्रीका के घातक तेज गेंदबाजों में से एक माने जाने वाले सोत्सोबे को 2015 में मैच फिक्सिंग का दोषी पाया गया था. उन पर द.अफ्रीका की घरेलू टी20 लीग में ऐसा करने के आरोप लगे थे. इसके बाद इस खिलाड़ी पर 8 साल का बैन लगा दिया गया था. कभी दुनिया के नंबर-1 वनडे गेंदबाज रहे सोत्सोबे ने 2009 से 2014 तक दक्षिण अफ्रीका के लिए क्रिकेट खेली. इस दौरान उन्होंने 61 वनडे में 94 और 23 टी20 में 18 विकेट हासिल किए. उन्होंने पांच टेस्ट भी खेले.







Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 Tracker