RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

PM मोदी ने किया नैसकॉम के वार्षिक सम्मेलन का उद्घाटन

कहा- नया भारत प्रगति के लिए अधीर

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913

आईटी उद्योग की संस्था नैसकॉम के एनटीएलएफ वार्षिक सम्मेलन का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया. यह सम्मेलन कोरोना महामारी के बाद डिजिटल भविष्य और जिम्मेदार तकनीक के महत्व पर केंद्रित होगा.

एनटीएलएफ यानि नैसकॉम टेक्नालॉजी एंड लीडरशिप फोरम के 29वें संस्करण का आयोजन 17-19 फरवरी को किया जाएगा. पहली बार इस सम्मेलन का ऑनलाइन आयोजन किया जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस साल मंच के उद्घाटन सत्र को संबोधित करेंगे.

इसे भी पढ़े : हजारों का कॉस्मेटिक सामान लेने के बाद दूसरे के नाम का चेक थमाकर धोखाधड़ी

इस दौरान पीएम ने कहा कि नया भारत प्रगति के लिए अधीर है. हमारी सरकार नए भारत की इस भावना को समझती है. 130 करोड़ से अधिक भारतीयों की आकांक्षाओं ने हमें आगे से आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया.

नई भारत से जुड़ीं अपेक्षाएं जितनी सरकार से हैं, उतनी ही देश के केंद्रीय क्षेत्र से भी हैं. इस दौरान पीएम ने कहा कि नया भारत प्रगति के लिए अधीर है.

हमारी सरकार नए भारत की इस भावना को समझती है. 130 करोड़ से अधिक भारतीयों की आकांक्षाओं ने हमें आगे से आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया. नई भारत से जुड़ीं अपेक्षाएं जितनी सरकार से हैं, उतनी ही देश के केंद्रीय क्षेत्र से भी हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा, हमारे इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े प्रोजेक्ट्स हों या गरीबों के घर, हर प्रोजेक्ट्स की जियो टैगिंग की जा रही है, इसलिए उस समय पूरे किए जा सकते हैं.

इसे भी पढ़े : 1 अप्रैल से मोबाइल पर बात करना और इंटरनेट यूज करना पड़ेगा महंगा, टेलीकॉम कंपनियों ने की तैयारी

यहां तक कि आज गांवों के घरों की मैपिंग ड्रोन से की जा रही है, टैक्स से जुड़े मामलों में भी ह्यूसमेन इंटरफेस को कम किया जा रहा है. पीएम ने कहा, मेरा स्टार्ट-अप फाउंडर्स के लिए एक संदेश है.

खुद को सिर्फ वैल्यूएशन और एग्जिट स्ट्रेटेजी तक ही सीमित नहीं करना है. सोचें कि आप ऐसी संस्थाएं कैसे बना सकते हैं जो इस सदी से आगे निकलें. सोचें कि आप विश्व स्तर के उत्पाद कैसे बना सकते हैं जो उत्कृष्टता का नया मानक तय करें.

Leave a Reply

%d bloggers like this: