RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

बंधवा मजदूरों को छूडाया, वापस लाए गए अपने गांव

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913

खरगोन, खरगोन पुलिस द्वारा महाराष्ट्र में बंधवा मजदूरों की रिहाई कराकर अपने गृह गांव वापस पहुंचाया। 12 फरवरी को प्रेमसिंह निवासी ग्राम रतीगढ़ देहरी ने पुलिस अधीक्षक श्री शैलेंद्रसिंह चौहान को महाराष्ट्र में अपने परिजन व गांव वालों को बंधवा मजदूर रखकर काम कराने की शिकायत की थी।

मामले की गंभीरता को समझते हुए पुलिस अधीक्षक श्री चौहान ने एएसपी जितेंद्रसिंह पंवार व डॉ. नीरज चौरसिया तथा एसडीओपी मंडलेश्वर मानसिंह ठाकुर को हर हाल में इनकी रिहाई कराने के निर्देश दिए।

इसे भी पढ़े : अफ्रीका (गिनी) देश में इबोला वायरस का कहर, 4 लोगों की मौत, महामारी घोषित

पुलिस अधीक्षक श्री चौहान द्वारा गठित दल ने त्वरित कार्यवाही करते हुए शिकायतकर्ता द्वारा बताए गए स्थान और जो व्यक्ति मजदूरी के लिए ले गया था, उनके बीच लगातार संवाद जारी रखा। बताया गया कि महाराष्ट्र के बीड़ जिले में खातेवाड़ी और पंडरपुर जिले के देगांव गांव में बंधवा मजदूरी करा रहे है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र गए पुलिस दल ने बताए गए स्थानों पर बंधवा मजदूरों की तलाशी शुरू की।

गठित टीम ने बीड़ के पुलिस अधीक्षक व स्थानीय पुलिस के साथ समन्वय कर बंधकों के स्थान पर पहुंचे। पुलिस ने यहां देखा कि खरगोन के मजदूर परिवारों से जबरदस्ती काम कराया जा रहा है। पुलिस ने सभी मजदूरों को छुड़वाया और उन्हें वापस लाया गया।

11 मजदूरों सहित 19 बंधकों को महाराष्ट्र से लेकर पहुंचे खरगोन

पुलिस अधीक्षक कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार मजदूरों से पूछताछ करने पर 3 व्यक्ति देहरी बड़वाह, 2 व्यक्ति काबरी-धुलकोट, 5 व्यक्ति घोड़ी बुजुर्ग चैनपुर, 1 व्यक्ति बुरहानपुर एवं 7 बच्चों की जानकारी दी गई।

कुल 11 मजदूरों सहित 19 बंधकों को पुलिस ने बंधकों से छुड़वाते हुए गृह गांव पहुंचाया। गृह गांव पहुंचे मजदूरों का परिजनों व गांव वालों ने पुष्पहारों से स्वागत किया।

इसे भी पढ़े : नाबालिग के साथ दुष्कर्म की घटना को दिया था अंजाम

वहीं बीड़ पुलिस द्वारा आरोपी धनराज पिता जना किडके निवासी खाडेवाली तहसील माझलगांव थाना सिरसला जिला बीड़ के विरूद्ध महाराष्ट्र में धारा 370, 344, 324 व 506 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

कार्यवाही में सहायक उप निरीक्षक अजय दुबे, आरक्षक रोबी यादव, श्रम निरीक्षक निलेश कुमार उईके, राहुल मुवेल व जन साहस संस्था के कर्मचारियों का योगदान रहा।

Leave a Reply

%d bloggers like this: