RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

चीन ने WHO को शुरुआती कोरोना केस के आंकड़े देने से किया इनकार, अमेरिका सख्त व नाराज़

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913

महामारी के कारणों की खोज में लगी डब्ल्यूएचओ की टीम को चीन ने शुरुआती कोरोना संक्रमण के मामलों के आंकड़ों का रॉ डेटा यानी विस्तृत ब्योरा देने से मना कर दिया है.

WHO टीम के सदस्य और संक्रामक बीमारियों के विशेषज्ञ डोमनिक डॉयर ने बताया कि कोरोना के प्रसार और महामारी के फैलाव को लेकर जांच कर रही टीम ने चीन से वुहान शहर में दिसंबर 2019 में सबसे पहले संक्रमण के 174 मामलों समेत अन्य मामलों का विस्तृत ब्योरा मांगा था.

लेकिन चीन ने केवल संक्षिप्त ब्यौरा ही हमें दिया है. डोमनिक ने बताया कि इस तरह के रॉ डेटा को लाइन लिस्टिंग्स कहते हैं.

इसे भी पढ़े : गुजरात के सीएम की भाषण देते हुए तबीयत बिगड़ी

उन्होंने बताया कि इसमें संक्रमित व्यक्ति का नाम नहीं होता. लेकिन उससे पूछे गए सारे सवाल और जवाब होते हैं. मरीज के जवाबों का विश्लेषण भी किया जाता है.

डोमनिक ने सिडनी से वीडियो कॉल के जरिए यह सारी बातें बताईं. वे इस समय महामारी के विषय में जांच पड़ताल करने की वजह से क्वारंटीन में है.

इसे भी पढ़े : देवास गेट थाने में पदस्थ एएसआई बहादुर सिंह थापा का पुत्र निकला मोबाइल लूटेरा।

वहीं अमेरिका ने इस पर कहा कि चीन को कोरोना फैलने के प्रारंभिक दिनों से लेकर अब तक के आंकड़े विश्व को उपलब्ध कराना चाहिए, ताकि महामारी के बारे में बेहतर अनुसंधान हो सके और आने वाले समय में हम ऐसी महामारी के प्रति सतर्क हो सकें.

Leave a Reply

%d bloggers like this: