RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

बरेली : सैकडों करोड़ की फैक्ट्री के बॉयलर के मामले में जुड़ा यूपी के पूर्व बाहुबली मंत्री का कनेक्शन, सामने आया साला, हैरान रह गए पुलिस अफसर–

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913

अचानक उत्तराखंड से आइटीआर फैक्ट्री के बायलर का कनेक्शन जुड़ते देख अधिकारी भी हैरान

बरेली, Indian Turpentine and Rosin Company Limited News :

आइटीआर फैक्ट्री के लंकाशायर बॉयलरों की जांच शुरू होते ही खुद को सत्ता में रहे पूर्व बाहुबली मंत्री का रिश्तेदार (साला) बताते हुए एक नेता पुलिस ऑफिस पहुंचे। अचानक उत्तराखंड से आइटीआर फैक्ट्री के बायलर का कनेक्शन जुड़ते देख अधिकारी भी हैरान थे। नेता मुलाकात में पूर्व मंत्री से अपने कनेक्शन ही खोलते रहे, लेकिन बाहुबली पूर्व मंत्री के नाम की चर्चा इसलिए खास रही, क्योंकि उन्हीं के संरक्षण में सुपीरियर इंडस्ट्रीज के प्रबंधक ने टेंडर अपने नाम किया था। उत्तराखंड से नेता के आने की टाइमिंग भी सटीक रही, क्योंकि उसी समय सुपीरियर इंडस्ट्री लि. के निदेशक अमित महर्षि भी पुलिस ऑफिस में आकर अपने दस्तावेज सौंप रहे थे।

वहीं, पुलिस की छानबीन में सामने आ चुका है कि टेंडर की कापी में लंकाशायर बॉयलर भले ही दिखाए गए हों लेकिन कंपनी के एग्रीमेंट में बॉयलरों का जिक्र नहीं है। प्रकाशित विज्ञापन में भी इस बाबत कोई जानकारी नहीं है। ऐसे में पुलिस आइटीआर के पूर्व कारखाना प्रबंधक केबी अग्रवाल से दस्तावेज तलब कर रही है। उन्हें बयान दर्ज कराने के लिए भी बुलाया गया है। वही सुपीरियर इंडस्ट्री के प्रबंधन का दावा है कि विजिलेंस जांच से इतर उनके पास खरीदफरोख्त के पूरे दस्तावेज हैं। सीबीगंज इंस्पेक्टर धर्मेंद्र सिंह ने उन्हें भी दस्तावेज के साथ बुलाया है।


फिर दावा, जांच सीबीगंज पुलिस ही करेगी: सीबीगंज थाने से यह भी स्पष्ट किया गया कि केस भले ही बड़ा हो, लेकिन जांच सीबीगंज थाने की पुलिस करेगी। एसएसपी रोहित सिंह सजवाण इस बाबत निर्देश दे चुके है। विजिलेंस और सिटी मजिस्ट्रेट की जांच के दस्तावेज भी पुलिस के लिए अहम साक्ष्य है। सिटी मजिस्ट्रेट मदन कुमार के आइटीआर फैक्ट्री परिसर पहुंचने की चर्चा रही। उनसे संपर्क करने की कोशिश हुई, लेकिन फोन नहीं उठे।

पब्लिश दिनांक- 13/02/2021

एलबी कुर्मी
ब्यूरो हेड बरेली
मो नं-7017550139

Leave a Reply

%d bloggers like this: