RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

उद्धव सरकार ने राज्यपाल को नहीं दी सरकारी प्लेन से उड़ान की इजाजत, उतरना पड़ा नीचे

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913

महाराष्ट्र में राजभवन से जुड़ा एक चौंकाने वाला मामला आया है. राजभवन और राज्य की उद्धव सरकार के बीच पहले ही तनावपूर्ण रिश्तों में आज एक और विवाद खड़ा हो गया. दरअसल, महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी राज्य सरकार के एक विमान से देहरादून जाने वाले थे.

 वह सरकारी चार्टर प्लेन में 20 मिनट तक बैठे इंतजार करते रहे, लेकिन उद्धव ठाकरे नीत राज्य की महाविकास अघाड़ी सरकार ने चार्टर प्लेन की इजाजत नहीं दी. इसके बाद गर्वनर को विमान से उतरना पड़ा और फिर प्राईवेट एयरलाइंस से टिकट बुक करके मुंबई से देहरादून रवाना हुए.

इसे भी पढ़े : तेलंगाना CM का विवादित बयान, कुत्तों से की प्रदर्शनकारियों की तुलना, महिलाओं को दी पीटने की धमकी

जानकारी के मुताबिक, एक हफ्ते पहले ही गर्वनर हाउस ने राज्यपाल की देहरादून यात्रा की जानकारी राज्य सरकार को दी थी. राज्य सरकार की ओर से इस बारे में कोई स्पष्टीकरण नहीं आया है. माना जा रहा है कि मौजूदा विवाद के बाद विपक्षी बीजेपी और सत्ताधारी एमवीए सरकार के बीच तल्खी और बढ़ सकती है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, सरकारी चार्टर्ड प्लेन के इस्तेमाल की इजाजत मुख्यमंत्री के अंतगर्त आने वाले सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा दी जाती है. लेकिन विभाग की ओर कोई जानकारी नहीं दी गई.

इसे भी पढ़े : जेल में ही रहेंगे अखिल गोगोई, CAA के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन मामले में नहीं मिली जमानत

इसके बाद भगत सिंह कोश्यारी विमान से उतरे और वीआईपी जोन में जाकर बैठ गए. वह करीब आधे घंटे तक वहां बैठे रहे, लेकिन तब तक सीएम ऑफिस से कोई फोन या जानकारी नहीं आई तो उन्होंने फिर प्राइवेट विमान का इस्तेमाल करने का फैसला लिया. उन्होंने फिर स्पाइसजेट की 12.15 PM पर मुंबई से देहरादून जाने वाली फ्लाइट का टिकट लिया और उसी के जरिये गंतव्य की ओर रवाना हुए.

Leave a Reply

%d bloggers like this: