RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

इस वर्ष पांच मुख्यमंत्रियों को सेवाधाम लाएंगे- वेद प्रताप वैदिक


सुधीर भाई के समान निःस्वार्थ सेवा करें, लोग स्वतः मदद के लिए आगे आएंगे

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913


उज्जैन। प्रख्यात पत्रकार एवं चिंतक डॉ वेद प्रताप वैदिक ने उज्जैन के समीप सेवाधाम आश्रम की कार्यकारिणी की अध्यक्षता करते हुए घौषणा की कि मैं देश के पांच मुख्यमंत्रियों को सेवाधाम भेजूंगा। वो यहाँ आए और देखे कि सही मायने में मानव सेवा कैसे होती हैं।


डॉ वैदिक ने बताया कि मैं सेवाधाम में प्रारंभ से जुड़ा हूँ, मेरा सुधीर भाई से हमेशा यहीं निवेदन रहा है कि आप मदद किसी से न मांगे और न हीं पैसा मांगें। आपके कार्य और निःस्वार्थ को देखते हुए लोग स्वतः मदद के लिए आगे आएंगे। सुधीर भाई की लगन व सच्ची सेवा का यहीं मंत्र कारगर है, परिणाम स्वरूप आज सेवाधाम 700 लोगों की सेवा, बगैर किसी शासकीय योगदान के कर रहा है। आपने कहा कि मुख्यमंत्रियों को आमंत्रित करने का उद्देश्य उनसे कुछ धन प्राप्त करने का नहीं है। मैं चाहता हूँ कि वो सुधीर भाई का आशीर्वाद प्राप्त कर ऐसे आश्रम देश के हर जिले में खोले ताकि देश में कोई भूखा, दिव्यांग और दया का पात्र न रहे।

इसे भी पढ़े : PM मोदी ने 5 माह की बच्ची की जान बचाने के लिए तुरंत लिया एक्शन, दिलाई 6 करोड़ की छूट


आपने कहा कि सुधीर भाई देश में उस क्रांति के जनक हैं जो सहानुभूति की क्रांति है, सच्चे भाई चारे की क्रांति है, मनुष्यता की क्रांति है। बड़े से बड़ा पुरुस्कार भी सुधीर भाई के व्यक्तित्व और कृतित्व की तुलना में बहुत छोटा है।


सेवाधाम के संस्थापक सुधीर भाई ने डॉ वैदिक का स्वागत किया और गतिविधियों को प्रस्तुत करते हुए प्रमुख रूप से कोरोना महामारी के दौर में लॉकडाउन के दौरान अब तक की गयी सेवाओं का विवरण प्रस्तुत किया। आपने बताया कि लॉकडाउन के प्रथम दिवस से चोथे चरण की 31 मई को समाप्ति तक एक लाख से अधिक जरूरत मंद झुग्गी झोपड़ी, श्रमिक और मलीन क्षेत्रों के अलावा यहां फंसे मजदूरों, भिक्षुओं, वृद्धों, बीमारो, दिव्यांगो और बच्चों को 30 टन हरी सब्जियां फल आदि वितरित किये। इंदौर के संस्थान येलो डायमंड द्वारा प्रदत्त एनर्जी केक, बर्तन, 100 से अधिक सूखा राशन किट एवं नगदी का वितरण किया गया। वर्तमान समय में भी यह कार्य चल रहा है भूख मुक्त उज्जैन अभियान के अंतर्गत लगभग पौने तीन लाख लोगों तक भोजन पहुंच चुका है।

इसे भी पढ़े : पृथ्वी पर लौटते वक्त रूसी अंतरिक्ष यान में हुआ धमाका, एस्ट्रोनॉट्स ने शेयर की तस्वीरें


सुधीर भाई ने बताया कि विशेष रूप से यह उल्लेखनीय है कि सेवाधाम आश्रम की 29 विशेष बेटियों का 5 दिवसीय विवाहोत्सव सम्पन्न हुआ। आश्रम में सीमित साधनों में लगभग 700 आश्रमवासियों की सेवा की जा रही है। जिनमें वृद्धजन, असहाय, दिव्यांग व विक्षिप्त महिलाएं और बच्चे शामिल हैं जो सम्पूर्ण भारत से बिना जाती धर्म संप्रदाय के है, जिनकी समर्पण भाव से निशुल्क निस्वार्थ सेवा मुख्य रूप से जन सहयोग से की जाती हैं।

सुधीर भाई ने आग्रह किया कि सेवाभावी लोग अपने साथियों को लेकर सेवाधाम पधारें, गतिविधियाँ अपनी आंखों से देखे और ईश्वर से प्रार्थना करें की समाज की पीङित व असहाय जनों की सेवा करने का सामर्थ्य व शक्ति प्रदान करे और स्वयं भी सहयोगी बने। आभार व्यक्त करते हुए इंदौर के प्रसिद्ध समाजसेवी और उद्योगपति सेवाधाम उपाध्यक्ष डॉ अनिल भंडारी ने सेवाधाम से अपने जूड़ाव का जिक्र करते हुए निवेदन किया कि इस काम के लिए बङी संख्या में स्वयंसेवको की जरूरत है।

इसे भी पढ़े : यूपी में एक और लव‌ जिहाद का मामला सामने आया वो भी जिला ,बरेली में लव जिहाद

आप लोगों को प्रेरित कर इससे जोड़े। पत्रकार एवं लेखक पंडित मुस्तफा आरिफ ने सुधीर भाई की जीवन कथा लिखने का संकल्प लिया जिससे कि इस इतिहास पुरूष से आगामी पीङी भी प्रेरणा ले सकें। वार्षिक आय व्यय भी पारित किया गया।

डॉ वैदिक के साथ सभी ने आश्रम का भ्रमण किया बच्चो ने संगीता खान के नेतृत्व में कबीर नाटक की प्रस्तुति दी। सुशीला नागर ने 50 हज़ार, मुस्तफा आरिफ ने 11 हजार, राजेश फुलजी बा ने 15 हजार, जैन परिवार आगर ने 11 हजार, प्रतिभा त्रिवेदी ने 5 हज़ार का योगदान किया। कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार विवेक चौरसिया, डॉ सचिन गोयल, मंजू वनवासी, के बी सहगल, कांता भाभी, विजय बाफना बदनावर, डॉ निगम, जय मुनि गोयल हरियाणा, प्रतिभा त्रिवेदी सहित संस्था पदाधिकारी सदस्य सहित सेवा सारथी उपस्थित थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: