RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

टिकरी बॉर्डर पर एक और किसान की मौत, सुसाइड नोट में लिखा- मरते दम तक नहीं जाएंगे

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913

कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन के बीच आज एक और किसान ने आत्महत्या कर अपनी जान दे दी. दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर किसानों के प्रदर्शन में शामिल हरियाणा के कर्मवीर सिंगवाल ने आज सुबह पेड़ में रस्सी के सहारे फंदा लटका कर खुदकुशी कर ली. किसान की आत्महत्या के बाद आसपास के इलाके में मौजूद लोग जुट गए.

मृतक कर्मवीर सिंगवाल अपने पीछे एक सुसाइड नोट भी छोड़ गया, जिसमें उन्होंने आंदोलनकारी किसानों के नाम संदेश लिखा है. सिंगवाल ने इसमें कहा है कि काले कानूनों के खिलाफ मरते दम तक किसानों को संघर्ष करना है.

इसे भी पढ़े : ग्लेशियर फटने से चमोली में भारी तबाही की आशंका

दरअसल, यह कोई पहला मौका नहीं है जब प्रदर्शनकारी किसानों ने आत्महत्या की. इससे पहले जनवरी महीने में भी कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघू बॉर्डर पर प्रदर्शन में भाग ले रहे पंजाब के 40 वर्षीय एक किसान ने जहरीला पदार्थ खाकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी.

इसे भी पढ़े : पत्नी प्रेमी के साथ भागी तो पति ने जहर खाकर आत्महत्या की

तब हरियाणा पुलिस ने यह जानकारी दी थी. सोनीपत के कुंडली पुलिस थाने में निरीक्षक रवि कुमार ने बताया था कि किसान अमरिंदर सिंह पंजाब के फतेहगढ़ साहिब जिले का निवासी था. किसान को सोनीपत के स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई.

Leave a Reply

%d bloggers like this: