RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

NIA की जांच में शामिल हुई इजराइल की खुफिया एजेंसी मोसाद

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913

दिल्ली! राजधानी दिल्ली में इजरायली दूतावास के पास हुए धमाके की जांच जारी है. इजरायली दूतावास ब्‍लास्‍ट मामले की जांच अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी के साथ इजराइल खुफिया एजेंसी मोसाद की टीम भी करेगी!

बुधवार को मोसाद की एक टीम ने एनआईए के जांच अधिकारियों से मुलाकात की थी. इस मुलाकात से ये तय हो गया है कि भारत के साथ अब मोसाद की टीम मिलकर इस जांच को आगे बढ़ाएगी!

इसे भी पढ़े : म्यांमार में हुआ सशस्त्र हमला, 12 की मौत, Twitter-इंस्टाग्राम बैन, लोग सड़कों पर

खबर है कि इजरायली दूतावास के पास से धमाके के बाद एनआईए की टीम को जांच में सबूत मिले हैं उसे मोसाद की टीम से साझा किया गया है. शुरुआती जांच में इस हमले के पीछे ईरान का हाथ होना बताया जा रहा है.

इजारयल के दूतावास के नाम से लिखा एक नोट भी घटनास्थल पर पाया गया था. जानकारी के मुताबिक इस नोट में धमकी दी गई थी और कहा गया था कि यह ट्रेलर है. विस्फोट का लिंक ईरान से जुड़ रहा है. इजरायल पहले ही इसे आतंकवादी हमला करार दे चुका है. भारत सरकार भी इस मामले में गंभीर नज़र आ रही है!

एनआईए की मदद के लिए मोसाद की टीम खासतौर पर तेल अवीव से राजधानी दिल्‍ली पहुंची है. हिन्दुस्तान टाइम्स में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, जांच में इस बात का खुलासा हुआ है कि इजराइल दूतावास के बाहर हुए कम तीव्रता वाले आईडी विस्फोट का उस संदिग्ध पैकेट से कोई लेना-देना नहीं है जो उसी दिन पेरिस में इजराइल दूतावास के बाहर बरामद हुआ था!

इसे भी पढ़े : जैश-ए-मोहम्मद का सक्रिय सदस्य दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार

जांच एजेंसी को ऐसा कोई गवाह अभी तक नहीं मिला है जिसने किसी को दूतावास के बाहर सड़क पर आईईडी रखते हुए देखा हो. यहां तक की इस इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज से भी अभी तक कोई खास सुराग हाथ नहीं लगा है!

Leave a Reply

%d bloggers like this: