RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

रब्बी गुरूजी के एक्जामिनर (परीक्षक) बनने से क्या येशु को मिल पायेगा स्कूल में दाखिला ?

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913

एण्डटीवी के शो श्येशुश् के हाल ही में प्रसारित हुए एपिसोड्स में हमने देखा था कि रब्बी गुरूजी (विक्की आहूजा) की बेटी नीमा (वैष्णवी प्रजापति) की येशु (विवान शाह) से मुलाकात होती है। वह बहुत ज्यादा दुखी है क्योंकि उसके अंधे होने के कारण उसके पिता बार-बार उसका तिरस्कार करते हंै। रब्बी गुरूजी ने अपनी बेटी नीमा और येशु के बीच बढ़ रही दोस्ती पर गौर किया। इस अवसर का फायदा उठाते हुए, वह येशु को नीमा की आंखों की रोशनी वापस लाने की चुनौती देता है।

येशु इस चुनौती को स्वीकार करता है और नीमा को वह सर्वशक्ति पर विश्वास करने के लिए कहता है क्योंकि वही एक अटूट शक्ति है जोकि नीमा की मदद कर सकती है। इसी के साथ वह नीमा की आंखों की रोशनी वापस देने के लिए ईश्वर से प्रार्थना भी करता है। उसकी प्रार्थना का जवाब उसे मिलता है और नीमा को उसकी आंखों की रोशनी मिल जाती है।

इसे भी पढ़े : किसान आंदोलन पर ट्वीट कर रहे अंतरराष्ट्रीय सेलेब्रेटीज को विदेश मंत्रालय ने दिया सख्त जवाब

हालांकि वह इसके लिए येशु को धन्यवाद देती है, लेकिन रब्बी गुरूजी पासा तब पलट देते हैं जब वह हर किसी को इस बात का विश्वास दिलाते हैं कि यह चमत्कार उनके द्वारा किया गया है। वहीं दूसरी तरफ, गांव वालों को ये पता चलता है कि स्कूल दोबारा खुल चुके हैं, लेकिन बच्चों का एडमिशन होगा या नहीं, यह प्रवेश परीक्षा के साथ तय होगा जिसका निरीक्षण और संचालन किसी और के नहीं बल्कि रब्बी गुरूजी द्वारा किया जाएगा।

क्या येशु पास होकर स्कूल ज्वाइन करेगा या गुरूजी इस अवसर को भी युवा येशु के खिलाफ इस्तेमाल करेंगे? इस एपिसोड के बारे में बात करते हुए, नीमा (वैष्णवी प्रजापति) ने कहा, ष्इस एपिसोड में दर्शक देखेंगे कि कैसे नीमा, नास्तिक से आस्तिक में बदलकर भगवान पर विश्वास करेगी।

अपनी आंखों की रोशनी पाने के बाद वह जीवन भर के लिए खुद को येशु का कर्जदार महसूस करती है और उसके सामने झुक जाती है। येशु की ये जीत रब्बी गुरूजी को बिलकुल रास नहीं आ रही और वह अभी भी ये योजना बना रहे हैं कि कैसे वो उसे इस गांव से निकाल सकें।

इसे भी पढ़े : कलयुगी पिता ने अपने ही पुत्री को बनाया हवस का शिकार।

अब इसी के साथ गुरूजी स्कूल में दाखिला लेने के लिए सबका टेस्ट लेते हैं और वो येशु से ये सवाल करते हैं कि अगर हर किसी में भगवान है तो क्या वह भेड़ों से बात कर सकता है? येशु गुरूजी के इस टास्क को पूरा करेगा या फिर वह इस टेस्ट में असफल हो जाएगा?

अधिक जानने के लिए, देखिए ‘येशु‘, हर सोमवार से शुक्रवार रात 8 बजे
सिर्फ एण्डटीवी पर

Leave a Reply

%d bloggers like this: