RNI N. MPHIN/2013/52360; प्रधान संपादक - विनायक अशोक लुनिया

पालकी में उठाकर रेम्प से मंच तक ले गए, आचार्यश्री ने तपस्वियों को दी मोक्ष माल


47 दिनों का उपधान तप पूर्ण होने पर मना भव्य उत्सव, मंत्री व विधायक भी हुए शामिल

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/

दैनिक राशिफल दिनांक 13 जुलाई (बुधवार) 2022 https://sachchadost.in/archives/93913


उज्जैन।
बड़नगर रोड स्थित अभ्युदय पुरम संकुल जैन मंदिर परिसर में जारी 47 दिवसीय उपधान तप के समापन पर सोमवार को मालारोपण कार्यक्रम हुआ। संयम जीवन जीने वाले तपस्वियों को परिवार जन पालकी में उठाकर रेम्प के जरिए मंच तक पहुंचे यहां आचार्य श्री ने उन्हें मोक्ष माला प्रदान की। सुबह 9.30 बजे तप की समापन विधि आरंभ हुई और उसके बाद मोक्ष माल शुरू हुआ।


अभ्युदयपुरम तीर्थ प्रणेता आचार्य श्री मुक्ति सागर सुरेश्वर जी की निश्रा में भक्ति के उल्लास व उत्साह के साथ माला रोपण विधान हुआ। जिसमे परिवारजनों ने तपस्वीयों को पालकी के अलावा कांधे व गोदी में उठाया और स्टेज तक लाये।


उपद्यान समिति के मीडिया प्रभारी राहुल कटारिया के अनुसार सैकड़ो श्वेतांबर जैन समाजजनो ने तपस्वियों की अनुमोदना की। प्रथम बार तप करने वाले कुल 60 तपस्वियों को मोक्ष माला पहनाई गयी। इसमें 17 वर्ष से कम आयु के 20 तपस्वी शामिल रहे। महोत्सव के लिए तीर्थ स्थल पर विशाल पांडाल लगाया गया था।

जिसमें एक तरफ मुख्य मंच और दूसरी और भोजनशाला की व्यवस्था रही। बता दें कि मालवांचल सहित अन्य प्रदेशों के 120 तपस्वियों ने भौतिक सुखों का त्याग कर श्वेतांबर जैन साधु-साध्वी जैसा जीवन जिया। इस अवधि में मोबाइल, वाहन, बिजली, बिस्तर सहित अन्य सुविधाओं का उपयोग नही किया और तीर्थ परिसर में ही विश्राम किया।

इसे भी पढ़े : म्यांमार में हुआ तख्तापलट, अमेरिका ने दी चेतावनी- सू की को रिहा करे आर्मी, नहीं तो करेंगे सख्त कार्रवाई, भारत ने भी जताई चिंता

कार्यक्रम में उच्च शिक्षा मंत्री डॉ मोहन यादव विधायक पारस जैन जन अभियान परिषद के उपाध्यक्ष विभाष उपाध्याय सहित अन्य विशिष्ट जन भी शामिल हुए। आयोजन में विजय सुराणा, राजेंद्र बांठिया, संजय जैन, खलीवाला, अशोक भंडारी राजेंद्र मूणत, संतोष धींग, राकेश नाहटा, राजेश पटनी, राहुल सर्राफ, प्रियेश जैन इंदौर, हेमंत जैन, माणकलाल भंसाली, सुभाष कोठारी, अभय जैन खलीवाला, सहित बड़ी संख्या में समाजजन मौजूद रहे।


इन्होंने लिया विशेष लाभ’


प्रथम माला पहनाने का लाभ तपस्वी सुश्री चहक के पिता राजेश जी चंद्रावत परिवार रतलाम एवं द्वितीय माला का लाभ बाल तपस्वी मिश्का के परिवार कमलेश जी चौधरी देपालपुर ने लिया। दोनों को धूमधाम से मंच तक लाया गया।

सोमवार की नवकारसी का लाभ तपस्वी अनिता बेन के निमित्त सुशील, अर्पित कुमार जैन एवं विमला बेन के निमित्त कैलाश चौधरी परिवार देवास ने लिया। वहीं साधार्मिक वात्सल्य का लाभ महिदपुर की तपस्वी बबीता बेन के शांतिलाल मंडलेचा सोनी परिवार एवं कोमल बेन के शांतिलाल कोचर परिवार ने लिया।

इसे भी पढ़े : बरेली में किशोरी बोली- मैं चीखती रही और आरोपित हंंस-हंंस कर बनाते रहे वीडियो—

आचार्य श्री को कामली भेंट करने का लाभ राजेश कुमार विजय जी पटनी परिवार ने लिया। कार्यक्रम का संचालन ट्रस्ट के ट्रस्टी अशोक भंडारी ने किया व आभार प्रियेश जैन इंदौर ने माना। इस दौरान मुंबई के भायंदर से आए यश राज म्यूजिकल ग्रुप के यश जैन व अन्य ने संगीतमय प्रस्तुतिया दी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: