Who is Sakar Vishwa Hari Baba: हाथरस में हादसे के बाद फरार है हरि भोले बाबा, 17 साल पहले नौकरी छोड़ बना था कथावाचक


हाथरस में कथावाचक साकार विश्व हरि भोले बाबा सत्संग का काम करने से पहले पुलिस कांस्टेबल था। 17 साल पहले नौकरी छोड़कर वह सत्संग करने लगा था। हाथरस में भगदड़ मचने के बाद से हरि भोले बाबा फरार है। अभी तक उसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है।

By Sandeep Chourey

Publish Date: Tue, 02 Jul 2024 06:01:09 PM (IST)

Updated Date: Wed, 03 Jul 2024 12:06:48 PM (IST)

Advertisment 
--------------------------------------------------------------------------
क्या आप भी फोन कॉल पर ऑर्डर लेते हुए थक चुके हैं? अपने व्यापार को मैन्युअली संभालते हुए थक चुके हैं? आज के महंगाई भरे समय में आपको सस्ता स्टाफ और हेल्पर नहीं मिल रहा है। तो चिंता किस बात की?

अब आपके लिए आया है एक ऐसा समाधान जो आपके व्यापार को आसान बना सकता है।

समाधान:
अब आपके साथ एस डी एड्स एजेंसी जुडी है, जहाँ आप नवीनतम तकनीक के साथ एक साथ में काम कर सकते हैं। जैसे कि ऑनलाइन ऑर्डर प्राप्त करना, ऑनलाइन भुगतान प्राप्त करना, ऑनलाइन बिल जनरेट करना, ऑनलाइन लेबल जनरेट करना, ऑनलाइन इन्वेंट्री प्रबंधन करना, ऑनलाइन सीधे आपके नए आगमनों को सोशल मीडिया पर ऑटो पोस्ट करना, ऑनलाइन ही आपकी पूरी ब्रांडिंग करना। आपके स्टोर को ऑनलाइन करने से आपके गैर मौजूदगी के समय में भी लोग आपको आर्डर कर पाएंगे। आपका व्यापार आपके सोते समय भी रॉकेट की तरह दौड़ेगा। गूगल पर ब्रांडिंग मिलेगी, सोशल मीडिया पर ब्रांडिंग मिलेगी, और भी बहुत सारे फायदे मिलेंगे आपको! 🚀

ई-कॉमर्स प्लान:
मूल्य: 40,000 रुपये
50% छूट: 20,000 रुपये
ईएमआई भी उपलब्ध है
डाउन पेमेंट: 5,000 रुपये
10 ईएमआई में 1,500 रुपये
साथ ही विशेष गिफ्ट कूपन

अब आज ही बुकिंग कीजिए और न्यूज़ पोर्टल्स में विज्ञापन प्लेस करने के लिए आपको 10,000 रुपये का पूरा गिफ्ट कूपन दिया जा रहा है! इसे साल भर में हर महीने 10,000 रुपये के विज्ञापन की बुकिंग के लिए 10 महीने तक उपयोग कर सकते हैं।

अब तकनीकी की मदद से अपने व्यापार को नई ऊँचाइयों तक ले जाइए और अपने व्यापार को बढ़ावा दें! 🌐
अभी संपर्क करें - 📲8109913008 कॉल / व्हाट्सप्प और कॉल ☎️ 03369029420


 

Who is Sakar Vishwa Hari Baba: हाथरस में हादसे के बाद फरार है हरि भोले बाबा, 17 साल पहले नौकरी छोड़ बना था कथावाचक
कथा वाचक साकार विश्व हरि बाबा की तस्वीर

HighLights

  1. हाथरस में सत्संग के दौरान भगदड़ मची
  2. कथावाचक बाबा भोले कर रहे थे सत्संग
  3. करीब 3 राज्यों में फैले हैं बाबा के अनुयायी
डिजिटल डेस्क, इंदौर। Hathras Stampede। उत्तर प्रदेश के सिकंदराराऊ से एटा रोड पर फुलरई गांव में सत्संग के दौरान भगदड़ मचने से 116 लोगों की मौत हो गई है। मिली जानकारी के मुताबिक, यहां कथावाचक बाबा साकार विश्व हरि भोले बाबा का सत्संग चल रहा था।

कौन है बाबा साकार विश्व हरि भोले बाबा

इस बड़े हादसे के बाद हर कोई यह जानना चाहता है कि आखिर कथावाचक बाबा साकार विश्व हरि भोले बाबा कौन है, जिनके सत्संग में इतनी बड़ी संख्या में अनुयायी पहुंचे हुए थे। यहां जानें कथावाचक बाबा साकार विश्व हरि भोले बाबा के बारे में विस्तार से

हादसे के बाद से फरार है बाबा भोले

हाथरस में जिस कथावाचक साकार विश्व हरि भोले बाबा का सत्संग हो रहा था। उन्हें अनुयायी भोले बाबा के नाम से पुकारते हैं। हादसे के बाद से भोले बाबा फरार है। अभी तक उनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है।

17 साल पहले छोड़ी थी पुलिस की नौकरी

naidunia_image

कथावाचक बाबा साकार विश्व हरि भोले बाबा का असल नाम सूरज पाल है और उसने करीब 17 साल पहले पुलिस कांस्टेबल की नौकरी छोड़कर सत्संग शुरू किया था। नौकरी छोड़ने के बाद सूरज पाल साकार विश्व हरि भोले बाबा बन गया और पटियाली में अपना आश्रम बनाया। गरीब और वंचित तबके के बीच में भोले बाबा की प्रसिद्धि तेजी से बढ़ी और लाखों की संख्या में उनके अनुयायियों बन गए।

मंच पर अक्सर सूट में होते हैं भोले बाबा

भोले बाबा जब पुलिस की नौकरी में था और वर्दी में ही प्रवचन देने लगता था। पूरे पुलिस महकमे में इस कारण वह चर्चा में आ गया था। आखिरकार जब नौकरी छोड़ी तब भी सूट में ही मंच पर आता है।

बाबा भोले के बारे में खास बातें

  • बाबा भोले का असली नाम सूरज पाल है।
  • सूरज पाल जिला कासगंज के बहादुर नगर का रहने वाला है।
  • बाबा भोले के पिता पिता किसान थे।
  • बाबा भोले अलीगढ़ के अतरौली में सिपाही पद पर तैनात था।
  • पदोन्नत होने के बाद एसआई बना लेकिन कुछ समय बाद नौकरी छोड़ दी।

naidunia_image

3 राज्यों में है भोले बाबा के अनुयायी

कथावाचक भोले बाबा के उत्तर प्रदेश के साथ-साथ राजस्थान और मध्य प्रदेश में काफी ज्यादा अनुयायी है। सबसे खास बात ये है कि उनके अनुयायी हमेशा मीडिया से दूरी बनाकर रखते हैं।



Source link


Discover more from सच्चा दोस्त न्यूज़

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours

Leave a Reply