UP: मंत्री सुरेश खन्ना बोले- पलटूराम का कोई भरोसा नहीं, अपने पिता और चाचा को भी दिया धोखा


पलटूराम का कोई भरोसा नहीं, अपने पिता और चाचा को भी दिया धोखा (File photo)

उन्होंने सपा (SP) मुखिया पर हमला करते हुए कहा कि पांच साल में प्रदेश को सिवाय लूटने के कुछ नहीं किया, प्रदेश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पिछड़ा प्रदेश के रूप में पहचान दिलाई.

लखनऊ. संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना (Suresh Khanna) ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) पर करारा पलटवार किया है. उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि पलटूराम का कोई भरोसा नहीं है, वह कभी टीके को लेकर भ्रम फैलाते हैं, तो कभी समाजवादी संघर्ष के नेताओं को भी गद्दार बता देते हैं. चाटुकारों से घिरे ऐसे नेता किसी भी हद तक जा सकते हैं. न वह अपने परिवार के सगे हैं और न ही अपनी पार्टी और प्रदेश के. वह बस पद-भिक्षा के लिए जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन ये जनता है, सब जानती है.

यह बातें उन्होंने आज पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहीं. उन्होंने सपा मुखिया पर हमला करते हुए कहा कि पांच साल में प्रदेश को सिवाय लूटने के कुछ नहीं किया, प्रदेश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पिछड़ा प्रदेश के रूप में पहचान दिलाई. पूरा कार्यकाल गुंडई और भ्रष्टाचार में बिता दिया, जिसने अपने पिता और चाचा को धोखा दिया, वह आज विकास और रोजगार की बात कर रहा है. आज भी लोग सपा कार्यकाल में हुई गुंडई, भ्रष्टाचार और अत्याचार को भूले नहीं हैं. सपा सरकार में लोगों के घर और प्लॉट सुरक्षित नहीं थे. उनके घरों और प्लॉटों को जबरन कब्जा कर लिया जा रहा था, जिस कारण लोगों ने ही यह नारा दिया था कि “सपा का नारा है, खाली प्लॉट हमारा है”.

Kanpur: थमा सांसें टूटने का सिलसिला तो अब हैलट अस्पताल के पोर्टल पर मौत के आंकड़ाें को किया जा रहा एडजस्ट

उन्होंने कहा कि कोविड प्रबंधन को लेकर यूपी मॉडल की सराहना विश्व स्तर पर हो रही है. यूपी में जितने कुल एक्टिव केस हैं, उससे ज्यादा रोजाना नए केस दूसरे राज्यों में आ रहे हैं. देश में सबसे अधिक जांच करने वाला इकलौता राज्य यूपी है. देश में 50 लाख से ज्यादा युवाओं का टीकाकरण अकेले यूपी ने किया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जीवन और जीविका की नीति के कारण आंशिक कोरोना कर्फ्यू में उद्योग और चीनी मिलें भी चलती रहीं. साथ ही गेहूं खरीद भी होती रही. यूपी की इस नीति का राष्ट्रीय स्तर पर औद्योगिक संगठनों ने भी समर्थन किया है. प्रदेश के इतिहास में पहली बार सवा चार लाख करोड़ का निवेश आया है, नए उद्योग लग रहे हैं और लोगों को रोजगार मिल रहा है. मनरेगा में पिछले एक माह में साढ़े पांच गुना ज्यादा लोगों को रोजगार मिला है.









Source link

Leave a Reply

COVID-19 Tracker
%d bloggers like this: