नीतिश का काम अच्छा नहीं लगा, जानिए इस निलंबित बीजेपी एमएलसी को क्यों पसंद आ रहे लालू


बीजेपी के निलंबित एमएलसी टुन्ना पांडे ने नीतिश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

बिहार की राजनीति करवट लेती रहती है. अब बीजेपी के निलंबित एमएलसी टुन्ना पांडे ने सीएम नीतिश कुमार के खिलाफ बयान दिया है. पांडे का कहना है कि उन्हें नीतिश का काम अच्छा नहीं लगा. लालू प्रसाद यादव से संबंध बने रहेंगे.

पटना. बीजेपी से निलंबित एमएलसी टुन्ना पांडे ने कहा है कि हमें नीतीश कुमार का काम अच्छा नहीं लगा. हमने एक साल पहले ही स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे के सामने टाउन हॉल में बोल दिया था कि हम अब एमएलसी का चुनाव नहीं लड़ेंगे. पांडे का एमएलसी का कार्यकाल अगले महीने ख़त्म हो रहा है.

एमएलसी टुन्ना पांडे ने कहा कि बीजेपी में निलंबित होने का कोई महत्व नहीं है. हम अभी भी बीजेपी में हैं. हमने पार्टी के नोटिस का जवाब दिया है. निलंबन का कोई महत्व नहीं, कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता है. लालू यादव के साथ जाने की अटकलों पर उन्होंने कहा कि एक भी ऐसा नेता नहीं मिला जिसके साथ हमारे सिवान में अच्छे संबंध नहीं हैं. शहाबुद्दीन से और लालू के परिवार से हमारा 1990 से रिश्ता रहा है. वो तो बना रहेगा.

विपक्षियों से संबंध बना रहेगा

निलंबित एमएलसी ने कहा कि लालू यादव से मुलाक़ात कल सुबह. 9 बजे हुई थी. रांची में जैसे थे उसके आधे हो गए हैं. हमने उनका हाल-चाल जाना. हमारा पारिवारिक संबंध है. इसलिए कुशल -क्षेम के लिए गए थे. उन्होंने कहा कि पार्टी बदलने का मतलब ये नहीं है कि किसी से मुलाकात ही नहीं होगी.सिवान से लोस चुनाव में उतरने का विचार नहीं

सिवान से लोकसभा चुनाव लड़ने पर टुन्ना ने कहा कि जब तक शहाबुद्दीन के परिवार का कोई सदस्य सदन नहीं पहुंचता, तब तक इस बारे में कोई विचार नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि हीना या ओसामा सदन में जाएंगे, तभी इस पर विचार किया जाएगा. उसके पहले नहीं. सीवान में कई बड़े नेता हैं.

गरीबों की आवाज हैं लालू

लालू टुन्ना पांडे ने कहा कि लालू यादव को जन्मदिन की बधाई. वे बिहार की धरोहर हैं. ग़रीब-गुरबों की आवाज़ हैं. वे अकलियतों की आवाज़ हैं. लालू यादव ने बिहार में जो क्रांति लाई वो सभी के वश की बात नहीं. बिहार की स्थिति में बहुत अंतर है. हम चाहेंगे लालू जी स्वस्थ हों और फिर बिहार आएं. राजनीतिक तौर पर हम आरजेडी से जुड़े हैं. हमारा भाई आरजेडी से एमएलए है. राजनीतिक लगाव तो आरजेडी से हो ही गया है. लेकिन, सीवान में हमसे सीनियर नेता और भी हैं.









Source link

Leave a Reply

COVID-19 Tracker
%d bloggers like this: