अलीगढ़ से स्टैनफोर्ड का सफर: मनु चौहान को मिली टॉप अमेरिकी विश्वविद्यालय से 100% छात्रवृत्ति


नई दिल्ली. ये कहानी है अलीगढ़ के मनु चौहान की. जो अपने सपनों को पूरा करने के लिए यूएसए के लिए उड़ान भरेंगे. उन्हें स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से 100 फीसदी मिली है. स्कॉलरशिप पाकर मनु को भरोसा है कि उनके सपने पूरे होंगे. मनु गांव के सेल्समैन का बेटा है. सीमित आय वाले परिवार से है. उनके पिता, यूपी के अलीगढ़ जिले के अकराबाद गांव में एक छोटे से बीमा विक्रेता हैं. पढ़ें मनु का अलीगढ़ से स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी तक का सफर.

सफर का पहला कदम

मनु ने कक्षा 5 तक अकराबाद गाँव के स्थानीय सरकारी प्राथमिक विद्यालय में पढ़ाई की. साल के अंत में, विद्याज्ञान स्कूल के लिए प्रवेश परीक्षा के लिए उपस्थित हुआ, जिसमें 2014 में चयन हो गया. विद्याज्ञान स्कूल, उत्तर प्रदेश में वंचितों के लिए शिव नादर फाउंडेशन द्वारा संचालित एक आवासीय विद्यालय है. हर साल सबसे छोटे गांवों के लगभग 2,50,000 छात्र प्रवेश के लिए उपस्थित होते हैं जो केवल 250 छात्रों का चयन करता है. 2014 में, मनु 250 में से एक थे. उस छात्रवृत्ति को पाना उनके सफर का पहला कदम था. हर कदम पर शिक्षकों से प्रेरणा ने उन्हें अपने शैक्षणिक लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद की.

छुट्टी के दौरान जब मैं घर वापस आता था, तो मैं अक्सर अपने पिता और परिवार को विभिन्न नीतियों के बारे में बात करते हुए सुनता था. मैं अभी भी छोटा था लेकिन जब बातचीत में मैंने अपनी राय दी, तो विचार प्रक्रिया के लिए मेरी सराहना की गई.जीते ये भी पुरुस्कार

हर कदम पर मनु ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया और अपनी कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षाओं में 95.4% अंक प्राप्त किए. उन्होंने दो बार शैक्षिक परीक्षण के माध्यम से शैक्षिक कौशल के आकलन में उत्कृष्ट प्रदर्शन पुरस्कार भी जीता; इंट्रा-क्लास वाद-विवाद प्रतियोगिताओं में सर्वश्रेष्ठ वक्ता बने और 2018 में ओपन स्टेट लेवल टेबल-टेनिस चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता. उन्होंने कहा- “शिक्षा सब कुछ बदल सकती है. भारत में हम इंफ्रास्ट्रक्चर मुहैया करा सकते हैं लेकिन लोगों की मानसिकता बदलनी होगी. सरकारी स्कूलों के शिक्षक, खासकर हमारे जैसे गाँव में, पढ़ाने में कोई दिलचस्पी नहीं है. मैं वह बदलना चाहता हूँ.”

स्टैनफोर्ड क्यों?

यह दुनिया के शीर्ष विश्वविद्यालयों में से एक है और अनुसंधान का बुनियादी ढांचा उत्कृष्ट है. भारतीय विश्वविद्यालय शोध के अवसर प्रदान नहीं करते हैं. मैं बदलाव लाना चाहता हूं और इसके लिए सही पहुंच की आवश्यकता है जो स्टैनफोर्ड मुझे प्रदान करता है.

कैसे करते हैं आवेदन

“आवेदन प्रक्रिया 11 वीं कक्षा से ही शुरू होती है. मुझे स्कूल काउंसलर द्वारा परामर्श दिया गया था. दिल्ली में काउंसलरों से भी बात की, जिन्होंने मुझे प्रक्रिया को समझने और अपना आवेदन पत्र भरने में मदद की. मैंने सैट की परीक्षा दी और 1600 में से 1470 अंक हासिल किए.

12वीं की रद्द परीक्षाओं के बारे में?

“कोई वास्तविक प्रभाव नहीं था. विदेशों में विश्वविद्यालयों में प्रवेश व्यक्तिपरक है और कक्षा 12 के बोर्ड के अंक इतने महत्वपूर्ण नहीं थे. प्रवेश वर्षों में प्रदर्शन और समग्र आवेदन पर आधारित था. इसमें निबंध भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.

यह पूछे जाने पर कि क्या वह 12वीं कक्षा के रद्द होने के फैसले से खुश हैं, मनु ने साझा किया कि वह काफी निराश हैं. मैं परीक्षाओं की प्रतीक्षा कर रहा था.

विदेश में आवेदन और अध्ययन के लिए खर्च?

मनु ने बताया कि आवेदन प्रक्रिया भी सस्ती नहीं है, उन्होंने छात्रवृत्ति के माध्यम से भुगतान किया. उन्हें एक पूर्ण छात्रवृत्ति से सम्मानित किया गया है. जिसमें उनके ठहरने, ट्यूशन के साथ-साथ उनके यात्रा खर्च भी शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- 

खुशखबरी ! दिल्ली में 21 हजार गेस्ट टीचर्स की दोबारा होगी नियुक्ति, जारी हुआ ये आदेश

Career & Jobs: करियर बनाने के लिए करें 5 कंप्यूटर कोर्स, मिलेगी शानदार नौकरी

“कॉलेज बोर्ड की छात्रवृत्ति ने मेरी सैट परीक्षा के लिए भुगतान किया. मेरे स्कूल ने आवेदन प्रक्रिया में मेरी मदद की. वास्तव में, ऐसे कई लोग और संस्थान हैं जो उन छात्रों की मदद करते हैं जिनके पास साधन नहीं है लेकिन इच्छाशक्ति और दृढ़ संकल्प है.”

मनु अपने जीवन का अगला अध्याय शुरू करने के लिए बेहद उत्साहित हैं. वह पहले ही टीके की अपनी पहली खुराक ले चुका है और दूसरी खुराक का इंतजार कर रहा है. वह सितंबर के पहले सप्ताह में उड़ान भरने की उम्मीद करता है. वह स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय संबंध और अर्थशास्त्र में स्नातक कार्यक्रम करेंगे. (मनु से अलीगढ़ से स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी तक के सफर पर बातचीत टाइम्स नाऊ ने की है.)

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए
फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/





Source link

Leave a Reply

COVID-19 Tracker
%d bloggers like this: